जब कलेक्टर ने नहीं सुनी बात तो कलेक्ट्रेट के आवेर हेड टैंक पर चढ़ गया साधू

प्रशासन पर लगाया दबंगों का साथ देने व न्याय न करने का आरोप

साधू की भूमि पर कब्जा कर लिए हैं कुछ दबंग प्रशासन नहीं कर रहा कार्रवाई

पत्रिका न्यूूज नेटवर्क
आजमगढ़. तहसील के अधिकारियों द्वारा भूमि पर हुए अवैध कब्जे को खाली न कराने तथा जिला मुख्यालय पहुंचने पर कलेक्ट्रेट के किसी अधिकारी द्वारा समस्या न सुनने से नाराज एक बुजुर्ग साधू डीएम कार्यालय परिसर में स्थित ओवर हेड टैंक पर चढ़ गया और जोर जोर से चीखने चिल्लाने लगा। वृद्ध का शोर सुन सैकड़ों लोग मौके पर पहुंच गए। किसी तरह उसे समझा बुझाकर नीचे उतारा गया। पीड़ित ने तत्काल कार्रवाई न होेने पर आमरण अनशन की चेतावनी दी।

सगड़ी तहसील के जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के अजगरा गांव निवासी बाबूलाल उर्फ साधू का आरोप था कि उसकी भूमि पर कुछ दबंगों ने कब्जा कर लिया है। कब्जा करने वाले दबंग किस्म के लोग है और तरह तरह से परेशान करते है। उसने इस संबंध में पिछले तीन साल से तहसील और कलेक्ट्रेट का चक्कर काट रहा है लेकिन दबंगों के दबाव में कोई अधिकारी उसकी शिकायत पर ध्यान नहीं देता।

आज भी वह भूमि से अवैध कब्जा हटाने के लिए डीएम के यहां फरियाद लेकर आया था। वह घंटों कलेक्ट्रेट में एक दफ्तर से दूसरे दफ्तर तक घूमता रहा। डीएम से लेकर एडीएम तक किसी ने उसकी फरियाद नहीं सुुनी। इससे नाराज होकर वह कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित पानी टंकी पर चढ़कर चिल्लाने लगा।

टंकी के उपर चढ़े बुजुर्ग का शोर सुनकर जब लोगों का ध्यान उन पर गया तो लोग सन्न रहे गए। थोड़ी ही देर में फोर्स भी मौके पर पहुंच गयी। जब इसकी जानकारी एडीएम प्रशासन नरेंद्र सिंह को हुई तो वे भी मौके पर पहुंच गए। उनके आने के बाद एक सिपाही पानी टंकी पर चढ़ा और वृद्ध फरियादी को समझा बुझाकर नीचे उतार लिया। एडीएम ने पीड़ित फरियादी की समस्या सुनी और कार्रवाई कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद वह वापस लौट गया। साधू ने कहा कि अब अगर उसकी समस्या का समाधान नहीं होता है तो आमरण अनशन के अलावा उसके सामने कोई विकल्प नहीं होगा।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned