इन बड़े मुद्दों को लेकर सड़क पर उतरे सपाई, बीजेपी सरकार पर लगाये गंभीर आरोप

- आजमगढ़ की सभी आठों तहसील मुख्यालयों पर प्रदर्शन के बाद एसडीएम को सौंपा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन
- महंगाई और पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्य वृद्धि के खिलाफ सड़क पर उतरे सपाई, सरकार पर लगाया गंभीर आरोप

By: Hariom Dwivedi

Published: 07 Jul 2020, 06:52 PM IST

आजमगढ़. पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्यवृद्धि, महंगाई, प्रवासी मजदूरों का काम न मिलने, किसान समस्याओं को लेकिन समाजवादी पार्टी ने मंगलवार को सभी तहसील मुख्यालयों पर प्रदर्शन किया। इस दौरान केंद्र व प्रदेश सरकार को जन विरोधी बताते हुए जमकर नारेबाजी की गयी। सभी आठो एसडीएम को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंप कार्रवाई की मांग की गयी।

जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने कहा कि डीजल, पेट्रोल, व गैस के दामों में वृद्धि से आवश्यक वस्तुओं के दाम और किसानों के उपयोग में आने वाली खाद व रासायनिक सामान महंगे हो गये हैं। 2014 में डीजल का दाम 55.48 रूपये था आज 72.42 रुपये हो गया है। पेट्रोल का दाम 72.26 रूपये से बढ़कर आज 80.86 रूपये हो गया है। खाद्य वस्तुओं दाल, तेल आदि के दामों में भारी वृद्धि हो गयी है। सरकार द्वारा बार-बार यह कहा जा रहा है कि गन्ना किसानों का भुगतान कर दिया गया है जबकि गन्ना किसानों का कई हजार करोड़ रूपये अभी मीलों पर बकाया पड़ा है। जिससे लाकडाडन के समय किसान बेहाल हो गया है। विद्युत व्यवस्था चरमरा गयी है जबकि घरेलू व किसानी में उपयोग होने वाली विद्युत दर दोगुनी हो गयी है।

यह भी मांग
समाजवादी पार्टी ने मांग किया कि डीजल व पेट्रोल के दामों में की गयी बढ़ोत्तरी को वापस लिया जाय, घरेलू व ट्यूबेल की बढ़ी हुई विद्युत दरों को घटाया जाय। यूरिया खाद की दामों में वृद्धि को घटाया जाय। गैस के दामों की वृद्धि को वापस लिया जाय। प्रवासी मजदूरों, अन्य मजदूरों व गरीबों को काम व रोजगार मुहैया कराया जाय।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned