आजमगढ़ में चुनाव खत्म होने के बाद सपा का गंभीर आरोप, सत्ता के इशारे पर हमारे कार्यकर्ताओं का हो रहा उत्पीड़न

आजमगढ़ में चुनाव खत्म होने के बाद सपा का गंभीर आरोप, सत्ता के इशारे पर हमारे कार्यकर्ताओं का हो रहा उत्पीड़न
सपा और बीजेपी

Akhilesh Kumar Tripathi | Publish: May, 14 2019 06:10:29 PM (IST) Azamgarh, Azamgarh, Uttar Pradesh, India

नेताओं का आरोप- भाजपा नेताओं की तरफ से कानून को चुनौती देने वाली घटनाओं को रोका जाये

आजमगढ़. समाजवादी पार्टी ने पुलिस प्रशासन और भाजपाइयों पर सत्ता की सह पर गठबंधन कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। जिलाध्यक्ष हवलदार यादव के नेतृत्व में पार्टी पदाधिकारियों ने एसपी से मुलाकात कर कार्रवाई की मांग की है।


सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने कहा कि जनपद में सम्पन्न हुए लोकसभा चुनाव में सत्ता की शह पर प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की मिलीभगत से भाजपा के लोगों ने दलितों व पिछड़ों को मारा पीटा। पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव पर ग्रामसभा किशुनपुर थाना जहानागंज में जानलेवा हमला हुआ। मेंहनगर के नुरपुर भॅवरपुर में फर्जी वोटिंग का विरोध करने पर दलितों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया।

 

पकड़ीकला में शाम 5.30 बजे बूथ एजेन्ट जगई राम व सुनील राजभर को दबंगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा उनकी रिपोर्ट भी दर्ज नहीं हुई। नूरपुर में दलितों के विरूद्ध 307 में फर्जी मुकदमा दर्ज कराया गया। पुलिस सत्ता के दबाव में मूकदर्शक बनी हुई है। जनपद में दबंगों द्वारा जगह-जगह परेशान किया जा रहा है। इस तरह के जातीय संघर्ष पर रोक लगायी जाये और भाजपा नेताओं की तरफ से कानून को चुनौती देने वाली घटनाओं को रोका जाये। प्रतिनिधिमण्डल में पूर्व सांसद दरोगा सरोज, रामानुज सिंह सदस्य जिला पंचायत, शिवसागर यादव सदस्य जिला पंचायत आदि शामिल थे।

 

BY- RANVIJAY SINGH

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned