बैठक में सपाइयों ने लिया संकल्प, 2022 में बनाएंगे अखिलेश की सरकार, किया बड़ा ऐलान

- पब्लिक सेक्टर को खत्म कर पूंजीपतियों को युवओं का भविष्य बेच रही सरकार
- चैपट होती अर्थव्यवस्था से हर वर्ग है परेशान

By: Abhishek Gupta

Published: 07 Mar 2020, 06:42 PM IST

आजमगढ़. समाजवादी पार्टी की शनिवार को जिला कार्यालय में हुई बैठक में पदाधिकारियों ने सरकार पर जमकर हमला बोला। बीजेपी की केंद्र व प्रदेश सरकार को जनविरोधी बताते हए 2022 में यूपी से उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया। केंद्र सरकार पर पब्लिक सेक्टर को समाप्त कर प्राइवेट सेक्टर को बेचने का आरोप लगाया। हवलदार यादव ने कहा कि पदाधिकारी बूथ कमेटियों, सेक्टर कमेटियों व अन्य फ्रन्टल संगठनों की कमेटियों को ठीक कर ले। जो निष्क्रिय हैं, उन्हें पदों से हटा दें। 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को रात-दिन मेहनत कर उप्र की फासिस्ट, प्रतिक्रियावादी, साम्प्रदायिकता का जहर घोलने वाली पूॅजीवादी भाजपा सरकार को हटाना है। भाजपा धीरे-धीरे संघ के कार्यक्रमों को लागू कर देश के संवैधानिक संस्थाओं को खत्म करना चाहती है। देश में अराजकता का वातावरण हो गया है।

एमएलसी राकेश यादव ने कहा कि देश की आर्थिक व्यवस्था चरमरा गयी है। एक-एक कर बैंकों का अस्तित्व समाप्त होता जा रहा है। जिन लोगों ने मेहनत कर पैसा जमा किया था, उनका पैसा भी डूबता नजर आ रहा है, जिससे आम आदमी परेशान हैं। देश का गरीब गरीब होता जा रहा है व पूॅजीपति और अमीर होता जा रहा है। पब्लिक सेक्टर को समाप्त कर प्राइवेट पूॅजीपतियों को बेचा जा रहा है। जिससे बेरोजगारी बढ़ गयी है। अब तक सरकारी आंकड़ों के अनुसार 3 करोड़ 16 लाख लोग बेरोजगार हो गये।

अखिलेश यादव ने कहा कि गरीबों, पिछड़ों, दलितों व अल्पसंख्यकों का सामाजिक, शैक्षिक व आर्थिक आधार पर दिया जाने वाला आरक्षण समाप्त किया जा रहा है या तो उच्च न्यायालयों व उच्चतम न्यायालयों में बैठे जाति विशेष के न्यायाधीशों द्वारा सरकार के इच्छा के अनुसार फैसलों को तोड़ मरोड़ कर संविधान की मंशा को खत्म किया जा रहा है।

पूर्व विधायक रामजग ने कहा कि सभी वर्गों के लोग मंहगाई, बेरोजगारी के मार से परेशान हैं। इन बुनियादी मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने के लिए भाजपा नेता अर्मादित व संविधान के विरूद्ध भाषण दे रहे हैं। जिसका उदाहरण दिल्ली की घटना है। कई अरबों की सम्पत्ति का नुकसान व सैकड़ों की हत्या व हजारों लोगों का चोटें आयी हैं। सरकार दमन व अत्याचार के आधार पर लोगों में भय पैदाकर देश में सरकार चला रही है।

इस मौके पर रामदुलार राजभर, जयराम सिंह पटेल, इसरार अहमद, चन्द्रशेखर यादव पूर्व प्रमुख, ओमप्रकाश राय, बर्मन यादव, डा0हरिराम सिंह यादव, रामदरश यादव, हरिश्चन्द्र यादव, अशोक यादव, रामआसरे चैहान, राजनरायन यादव, हंसराज यादव, शिवसागर यादव, रामप्रवेश यादव, शिवसागर यादव, चन्द्रशेखर यादव, किशोर कुमार यादव, राजाराम सोनकर, प्रेमा यादव, बबिता चैहान उपस्थित थे। संचालन हरिप्रसाद दुबे ने किया।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned