UP Politics : ब्राह्मण कार्ड के बाद अब भगवान विश्वकर्मा के बहाने सपा ने योगी सरकार को घेरा

- पूर्व शिक्षा मंत्री राम आसरे विश्वकर्मा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने डीएम को सौंपा राज्यपाल व राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन
- सरकार पर लगाया भगवान विश्वकर्मा के अपमान का आरोप, 17 सितंबर को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग

By: Hariom Dwivedi

Published: 07 Sep 2020, 05:22 PM IST

आजमगढ़. वर्ष 2022 का विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, राजनीतिक दलों ने धार्मिक व जातीय कार्ड खेलना शुरू कर दिया है। पिछले दिनों कानपुर के गैंगेस्टर विकास दुबे की हत्या के बाद राजनीतिक दलों ने खुलकर ब्राह्मण कार्ड खेला और भगवान परशुराम तक का मुद्दा बनाने की कोशिश की गई। अब समाजवादी पार्टी ने भगवान विश्वकर्मा के बहाने यूपी की योगी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। योगी सरकार पर भगवान विश्वकर्मा के अपमान का आरोप लगाते हुए सपा से जुड़े विश्वकर्मा सामाज के नेताओं ने जिलाधिकारी से मिलकर राष्ट्रपति, राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा और 17 सितंबर को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग की।

पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह की सरकार में शिक्षामंत्री रहे राम आसरे विश्वकर्मा के नेतृत्व में अखिल भारतीय विश्वकर्मा समाज के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। सरकार पर समाज के साथ भेदभाव व देवी-देवताओं के अपमान का आरोप लगाया। इस दौरान पिछड़े समाज की समस्याओं को लेकर भी सरकार पर हमला बोला गया। गरीब और पिछड़ों के हित की अनदेखी का आरोप लगाया गया।

पूर्वमंत्री राम आसरे विश्वकर्मा ने कहा कि भगवान विश्वकर्मा केवल विश्वकर्मा समाज के ही नहीं, बल्कि सभी समाज के आराध्य देव हैं। लोहा, लकड़ी, इंजीनियरिंग, तकनीकी उद्योग आदि से जुड़े लोग 17 सितबंर को भगवान विश्वकर्मा की पूजा करते हैं। उन्होंने कहा कि विश्वकर्मा जयंती पर अवकाश रद्द कर सीएम ने केवल उनका अपमान किया, बल्कि भगवान विश्वकर्मा को मानने वाले करोड़ों लोगों की भावनाओं को आहत किया। इससे लोगों में नाराजगी है। हमारी सरकार व राष्ट्रपति से मांग है कि विश्वकर्मा पूजा का सार्वजनिक अवकाश घोषित कर विश्वकर्मा को मानने वालो का सम्मान करने का काम करें।

मुलायम ने घोषित किया था सार्वजनिक अवकाश
पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने वर्ष 2003 में विश्वकर्मा जंयती पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया था। 2012 में अखिलेश यादव सीएम बने तो उन्होंने विश्वकर्मा पूजा को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया, लेकिन वर्ष 2017 में यूपी में बीजेपी की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सार्वजनिक अवकाश का रद्द कर दिया।

BJP
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned