आजमगढ़ डबल मर्डर केस: पुलिस ने सात इनामी आरोपियों को किया गिरफ्तार

रानी की सराय थाना क्षेत्र के चकमेउवां गांव में रविवार को हुई थी हत्या

आजमगढ़. रानी की सराय थाना क्षेत्र के चकमेउवां गांव में रविवार को हुए चिकित्सको के दोहरे हत्याकांड के मामले में स्वाट और पुलिस टीम ने घटना में शामिल मुख्य आरोपी सहित 7 इनामी आरोपिया को  बेलइसा चौराहे के पास से गिरफ्तार कर उनके कब्जे से राइफल, दो बन्दूक, व लाठी-डंडा, राड इत्यादि बरामद किया है। पुलिस अधीक्षक ने दावा किया कि आरोपियों को रिमांड पर लेकर घटना के असल कारणों का पता लगाया जायेगा।

 

शुक्रवार को पुलिस लाइन सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता में पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने रविवार को कोटे और चुनावी रंजीश के चलते रानी की सराय थाना क्षेत्र में चकमेउवां गांव में दो चिकित्सकों की पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी थी । इस घटना में 7 नामजद और 4 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। घटना के शामिल आरोपियों की गिरफतारी के लिए पुलिस की कई टीमों के साथ स्वाट टीम को लगाया था।  घटना के दूसरे दिन ही 4 अारोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था। जबकि फरार मुख्य आरोपी ग्राम प्रधान राजेन्द्र यादव के उपर 12 हजार और अन्य 6 आरोपियों के खिलाफ पांच-पांच हजार रूपये का इनाम घोषित किया गया था।  


यह भी पढ़ें:  बहन ने प्रेमियों के साथ मिलकर भाई की हत्या की, आत्मा पीछा न करे इसलिए दोनों आंख भी फोड़ डाला


शुक्रवार को स्वाट टीम और पुलिस के संयुक्त प्रयास से बेलइसा चौराहे के समीप मुख्य आरोपी राजेन्द्र यादव, अमरेज यादव उर्फ गब्बर, जितेन्द्र यादव, सतपाल यादव उर्फ लालू, बबलू यादव उर्फ कृपाशंकर, अशोक यादव उर्फ करिया, मोनू यादव उर्फ अरूण को गिरफ्तार कर उसकी निशानीदेही पर हत्या में प्रयुक्त राइफल, दो बन्दूक, लाठी-डंडा, राॅड सहित 7 आला कत्ल के सामान बरामद किया गया है। 

 



 पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना में शामिल सभी 11 अरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना का कारण प्रथम दृष्टयां सरकारी राशन की दुकान का कोटा और चुनावी रंजीश है। लेकिन आरोपियों को रिमांड पर लेकर इनसे पूछताछ की जायेगी।
Show More
अखिलेश त्रिपाठी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned