scriptShivpal Yadav expels state spokesperson Abhishek Singh from party | शिवपाल यादव ने अपने सबसे करीबी नेता अभिषेक सिंह आंसू को किया पार्टी से निष्कासित, भाजपा में होंगे शामिल | Patrika News

शिवपाल यादव ने अपने सबसे करीबी नेता अभिषेक सिंह आंसू को किया पार्टी से निष्कासित, भाजपा में होंगे शामिल

प्रदेश सचिव रामदर्शन यादव द्वारा बीजेपी का दामन थामने के कुछ घंटों के बाद ही प्रसपा मुखिया शिवपाल यादव ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अपने सबसे करीबी नेता पार्टी प्रवक्ता अभिषेक सिंह आंसू को सभी पदों से मुक्त करते हुए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। अभिषेक कभी शिवपाल के लिए सपा छोड़कर प्रसपा में शामिल हुए थे।

आजमगढ़

Published: June 18, 2022 04:41:02 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. यूपी और आजमगढ़ की राजनीति में शनिवार को दिन बड़े उलटफेर वाला रहा। पहले प्रसपा के प्रदेश सचिव रामदर्शन यादव ने बीजेपी का दामन थाम लिया। वहीं दोपहर बाद प्रसपा मुखिया शिवपाल यादव ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अपने करीबी नेता पार्टी प्रवक्ता अभिषेक सिंह आंसू को पार्टी से निष्कासित कर दिया। अभिषेक के पार्टी से निष्कासन से प्रसपा के साथ सपा को भी नुकसान उठाना होगा। कारण कि समाजवादी सवर्ण नेेताओं में उनकी गहरी पैठे है। सूत्रों की माने तो आंसू शाम तक बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।

अभिषेक सिंह आंसू
अभिषेक सिंह आंसू

लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अभिषेक सिंह आंसू मूलरूप से आजमगढ़ जिले के जियापुर हड़ौरा गांव के रहने वाले है। अभिषेक छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय हैं। उन्होंने समाजवादी छात्र सभा लखनऊ विश्वविद्यालय संगठन मंत्री पद से वर्ष 1998 में सपा की राजनीति शुरू की थी। वे समाजवादी पार्टी में विभिन्न पदों पर रहे। यह युवा नेता कभी अखिलेश यादव के करीबी नेताओं में गिना जाता था। सपा में उसकी गहरी पैठ थी।

वर्ष 2016 में सपा कुनबे में विवाद शुरू हुआ और शिवपाल यादव सपा से अलग हुए तो अभिषेक सिंह उनके साथ चले गए। अभिषेक को शिवपाल का करीबी माना जाता है। शिवपाल ने प्रसपा का गठन किया को अभिषेक को प्रमुख महासचिव व पार्टी प्रवक्ता की जिम्मेदारी सौंपी। पार्टी के गठन के बाद शिवपाल यादव कई बार अभिषेक के घर आए। माना जाता था कि पार्टी में उनका कद आदित्य जैसा है लेकिन शनिवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव के निर्देष पर पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आदित्य यादव ने उनके निष्कासन का पत्र जारी किया। पत्र में निष्कासन की वजह नहीं बताई गयी है लेकिन माना जा रहा है कि हाल में अभिषेक की बीजेपी से नजदीकी के कारण उन्हें पार्टी से निकाला गया है। सूत्रों की मानें तो आज शाम तक आंसू बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। वैसे खुद अभिषेक अभी इस मुद्दे पर कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.