ओमप्रकाश राजभर के गठबंधन में शामिल होंगे शिवपाल, ओवैसी से मुलाकात के बाद दिया संकेत

बोले, सपा में नहीं होगा प्रसपा का विलय, अखिलेश के साथ गठबंधन को तैयार

मीडिया से दूर रहे ओवैसी, शिवपाल से घंटो की चुनाव पर गुफ्तगू

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. पूर्वांचल की सियासी गर्मी शनिवार की रात उस समय बढ़ गयी जब एआईएमआईएम प्रदेश अध्यक्ष शौकत माहुली के आवास पर आयोजित वैवाहिक समारोह मेें प्रसपा मुखिया शिवपाल पहुंचे और एआईएमआईएम चीफ ओवैसी से 2022 चुनाव को लेकर घंटों तक गुफ्तगू की। इस दौरान ओवैसी ने खुद को मीडिया से दूर रखा लेकिन शिवपाल ने साफ संकेत दिये कि उनकी पार्टी भागीदारी संकल्प मोर्चा में शामिल हो सकती है। यहीं नहीं उन्होंने अखिलेश यादव के सामने भी गठबंधन का विकल्प खुला रखा लेकिन प्रसपा के सपा में विलय की संभावनाओं से पूूरी तरह इनकार कर दिया।

बता दें कि शनिवार को शौकत अली के पुत्री की शादी थी। वैवाहिक कार्यक्रम में भागीदारी संकल्प मोर्चा के संयोजक ओमप्रकाश राजभर व ओवैसी शामिल होने वाले थे। सभी की निगाह दोनों नेताओं पर थी लेकिन किन्हीं कारणों से ओम प्रकाश राजभर नहीं आये लेकिन देर शाम प्रसपा मुखिया शिवपाल वहां पहुंचकर सभी को चैका दिये।

शिवपाल ने ओवैसी से मुलाकात की और करीब एक घंटे तक दोनों के बीच बातचीत हुई। इस दौरान दोनों अध्यक्षों के अलावा शौकत व प्रसपा के महासचिव रामदर्शन यादव भी थे। किसी अन्य के वहां जाने की इजाजत नहीं थी। बातचीत के बाद शिवपाल बाहर निकले तो 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव भागीदारी संकल्प मोर्चा के साथ लड़ने के संकेत दिए।

शिवपाल ने कहा कि हमारी मुलाकात ओवैसी हुई है, मैं पहले भी बोल चुका हूं कि समान विचारधारा के लोग और सभी धर्मनिरपेक्ष दलों को एक साथ आकर भाजपा को प्रदेश व देश से उखाड़ फेंकना चाहिए। इस समय यह जरूरत भी है। मैंने अखिलेश से भी यही कहा कि सबको जोड़ें। यह भी कहा कि हम सपा में विलय नहीं करेंगे, गठबंधन करेंगे।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned