शिवपाल ने फिर बढ़ाई अखिलेश की टेंशन, कहा- मुलायम के नेतृत्व में बनेगा नया मोर्चा 

  शिवपाल ने फिर बढ़ाई अखिलेश की टेंशन, कहा- मुलायम के नेतृत्व में बनेगा नया मोर्चा 
Shivpal yadav

नेताजी के राज्‍यपाल बनने की चर्चा को सिरे से किया खारिज, बोले ऐसा कोई प्रस्‍ताव स्‍वीकार नहीं करेंगे मुलायम

आजमगढ़. समाजवादी पार्टी में अलग थलग पड़ने के बाद पहली बार आजमगढ़ पहुंचे समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्‍यक्ष शिवपाल यादव ने उन्‍होंने साफ कहा कि नेताजी के नेतृत्‍व में महागठबंधन होता तो देश और प्रदेश की तस्‍वीर कुछ और होती। उन्होंने कहा कि अभी वह प्रदेश भ्रमण कर रहे हैं, उनके पास एक से डेढ महीने का समय है यदि अखिलेश यादव मान गए तो ठीक नहीं तो वे मुलायम सिंह यादव के नेतृत्‍व में मोर्चे का गठन करेंगे। शिवपाल यादव ने इशारों ही इशारो में बसपा मुखिया मायावती से चुनावी गठजोड़ की बात कही। 




उन्होंने कहा कि राजनीति तो वक्त के साथ बदलती है, वह दौर और था और मौजूदा दौर जुदा है। ऐसे में हालात को समझते हुए मायावती के साथ मिलकर चुनाव लडऩे से गुरेज नहीं है। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मायावती भी अकेले दम पर भाजपा से लडऩे में फिलहाल सक्षम नहीं हैं, ऐसे में बिहार विधानसभा की तर्ज पर सेक्युलर दल एकजुट होकर चुनाव लड़ेंगे तो सांप्रदायिक ताकतों को रोकने में कामयाबी मिलना तय है। उन्होंने कहा कि अभी चुनाव में वक्त है। अखिलेश और रामगोपाल को सुधरने के लिए वक्त दिया है। दोनों ने अपना रवैया नहीं बदला तो समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन करने के साथ ही मायावती के साथ गठबंधन बनाकर आम चुनाव 2019 लड़ा जाएगा। उन्होंने योगी सरकार को कानून व्‍यवस्‍था में सुधार करने की नसीहत दी तो अखिलेश यादव और प्रो. राम गोपाल को भी आड़े हाथों लिया। 



यह भी पढ़ें:



उन्‍होंने कहा कि वह परिवार बचाने निकले हैं, लेकिन इज्जत नीलाम नहीं होने दूंगा। विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की करारी हार के पीछे परिवार का बिखराव था और बिखराव के लिए सिर्फ रामगोपाल यादव जिम्मेदार हैं, जिन्होंने अखिलेश को नेताजी के सामने बगावत करने के लिए उकसाया था। प्रदेश की भाजपा सरकार पर उन्‍होने कहा कि हमने छह महीने देने की बात कही थी। अब समय है लेकिन कानून व्‍यवस्‍था पर काम करने की जरूरत है, प्रदेश में अपराध पहले से बढ़ा है।






निजी कार्यक्रम में शिरकत करने पहुचे उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व काबीना मंत्री शिवपाल यादव ने कहा कि देश में महागठबन्धन बना ही नही था, प्रदेश में अपराधों पर लगाम लगाने की जरूरत है। साथ ही उन्होने कहा कि मुलायम सिंह यादव के राज्यपाल बनाये जाने या ऐसे किसी प्रस्ताव को नेताजी स्वीकार नही करेगें। शिवपाल यादव के इस दौरे के दौरान सबसे खास बात यह रही कि केवल मुलायम और शिवपाल गुट के ही लोग उनके दौरे पर साथ रहे जबकि पूरी समाजवादी पार्टी उनसे दूरी बनाये रखी। 


इससे पहले  बेलनाडीह गांव में नवनिर्मित रिसार्ट में पहुचे काबीना मंत्री शिवपाल यादव को कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। इस अवसर पर मीडिया से बातचीत करते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि देश में महागठबन्धन नही बना था। अगर नेताजी के नेतृत्व में महागठबन्धन बनता तो आज ऐसी स्थिति नही आती। 


Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned