वेदान्ता अस्पताल के खिलाफ सड़क पर सामाजिक संगठन, फूंका पुतला

अस्पताल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई न होने से नाराज हैं लोग

By: ज्योति मिनी

Published: 25 Jun 2018, 02:43 PM IST

आजमगढ़. शहर के लछिरामपुर स्थित वेदांता हास्पिटल में मरीज के परिजनों पर किये गए हमले और आये दिन होने वाली घटनाओं को प्रशासन द्वारा नजरअंदाज करने से नाराज सामाजिक संगठनों ने रविवार को जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान अस्पताल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी। अस्पताल प्रबंधन का पुतला फूंक कार्रवाई की मांग की गयी। कार्रवाई न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी गयी।


जागो युवा सेवा संस्थान, महिला मंडल व अभिभावक महासंघ के लोग जुलूस निकालकर शारदा चौराहे पर पहुंचे। यहां लोगों ने अस्पताल प्रबंधन और न्यूरो सर्जन डा. शिशिर जायसवाल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जेवाईएसएस संयोजक विनीत सिंह रीशू ने कहा कि वेदांता हॉस्पिटल लछिरामपुर द्वारा एक मरीज के साथ अत्यंत ही घृणित कार्य कर मानवीयता को शर्मसार किया गया। अस्पताल प्रबंधन के लोगां ने पुलिस के साथ मारपीट की। इसके बाद भी जिला प्रशासन द्वारा कोई सख्त कदम नहीं उठाया गया।

महिला मंडल की अध्यक्ष पूनम सिंह ने कहा कि उक्त अस्पताल में यह कोई पहली घटना नहीं है, जब से हॉस्पिटल का संचालन हुआ है उसके बाद से यह लगभग 20 वी घटना है लेकिन प्रभाव के कारण प्रशासन मूक बधिर होकर अस्पताल प्रबंधन पर कुछ नहीं कर पाता, जो दुर्भाग्यपूर्ण हैं। अतरौलिया के एक परिजन के साथ भी ऐसी दुर्दांत घटना हुई जिससे मानवता तार-तार हो गई। यही नहीं, सारे प्रशासनिक अमले में यह बात स्पष्ट रुप से ज्ञात है, फिर भी डॉक्टर के खिलाफ नहीं प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा किसी प्रकार का कदम नहीं उठाया।
गोविन्द दुबे ने कहा कि जब तक चिकित्सक पर कार्यवाही नहीं होगी हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा। इसके बाद तीनों संगठनों ने संयुक्त रूप अस्पताल प्रबंधक का प्रतिकात्मक पुतला दहन किया। इस अवसर पर पुरुषोत्तम सिंह, भानु प्रताप सिंह, राकेश मौर्य, राजू सोनकर, अश्वनी सिंह, आलोक सिंह, रेखा श्रीवास्तव, सुमन सिह, ऋषभ राय, उमेश सिंह, सुमन सिंह आदि मौजूद रहे।

ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned