सपा का फर्जी एमएलसी बनकर आठ करोड़ की ठगी, पुलिस ने जब पकड़ा तो खुले कई अहम राज

सपा का फर्जी
एमएलसी बनकर आठ करोड़ की ठगी, पुलिस ने जब पकड़ा तो खुले कई अहम राज
Manoj singh

आजमगढ़ में भी नौकरी के नाम पर कईयों के साथ कर चुका है ठगी

आजमगढ़. खुद को सपा को एमएलसी बताकर आठ करोड़ से अधिक की ठगी करने वाले आजमगढ़ के रहने वाले ठाकुर मनोज सिंह को मुंबई की आर्थिक अपराध शाखा ने गिरफ्तार कर लिया है। मनोज पर आजमगढ़ में भी कई लोगों से नौकरी के नाम पर पैसा लेने का आरोप लग चुका है।


बता दें कि आजमगढ़ जिले के दीदारगंज थाना क्षेत्र के आमगांव निवासी ठाकुर मनोज सिंह पहले खुद को राष्‍ट्रीय जनता दल का नेता बताता था। 2012 चुनाव के समय खुद को सपा के महाराष्‍ट्र प्रांत का महासचिव लिखने लगा। आजमगढ़ में उसने सपा की तमाम होर्डिगे लगाई। वर्ष 2010 के आसपास उसने आजमगढ़ में कई लोगों को रेलवे व अन्‍य विभागों को नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रूपये लिए लेकिन किसी को नौकरी नहीं दिलायी आौर ना ही धन वापस किया। इस दौरान कुछ लोगों ने दीदारगंज थाने में रिपोर्ट पंजीकृत करने के लिए प्रार्थना पत्र भी दिया।


यह भी पढ़ें: भदोही में धर्म परिवर्तन के आरोप में एक गिरफ्तार


पिछले कुछ वर्षो से वह मुंबई में ही डेरा डाले हुए था। मुंबई आर्थिक अपराध शाखा के मुताबिक यहां वह खुद को सपा का उत्‍तर प्रदेश का एमएलसी बताता था। डीसीपी पराग मनेरे के मुताबिक ठाकुर मनोज सिंह मुंबई में मुख्‍यमंत्री कोटे से लोगों को घर दिलाने का झासा देकर लोगों के साथ ठगी की। उसपर आठ करोड़ रूपये से अधिक की करने का अारोप है।



पुलिस को पांच लोगों से ठगी के मामले में लंबे समय से उसकी तलाश थी। आरोपी ने लोगों का भरोसा जीतने
के लिए महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री पृथ्‍वीराज चाव्‍हण के फर्जी हस्‍ताक्षर, लेटरहेड, और स्‍टाम्‍प पेपर का भी इस्‍तेमाल किया था। ठाकुर मनोज सिंह लोगों से दावा करता था कि वह समाजवादी पार्टी का उत्‍तर प्रदेश से एमएलसी है। साथ ही खुद को रेलवे बोर्ड का सदस्‍य भी बताता था। एफआईआर के बाद ठाकुर मनोज ने अंतरिम जमानत के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था लेकिन उसे वहां से राहत नहीं मिली थी। ठाकुर मनोज की गिरफ्तार से आजमगढ़ में उन लोगों ने भी राहत की सांस ली है जिनका लाखों रूपया वह हजम कर चुका है।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned