सपा नेताओं ने कहा, सत्ता के दबाव में सपा कार्यकर्ताओं को धमकाया जा रहा, और फर्जी मुकदमे में फंसाया गया

सपा नेताओं ने कहा, सत्ता के दबाव में सपा कार्यकर्ताओं को धमकाया जा रहा, और फर्जी मुकदमे में फंसाया गया
सपा नेताओं ने कहा, सत्ता के दबाव में सपा कार्यकर्ताओं को धमकाया जा रहा, और फर्जी मुकदमे में फंसाया गया

Ashish Kumar Shukla | Publish: May, 04 2019 06:27:20 PM (IST) | Updated: May, 04 2019 06:27:22 PM (IST) Azamgarh, Azamgarh, Uttar Pradesh, India

एसपी से मुलाकात कर सौंपा ज्ञापन

आजमगढ़. सपा के नेताओं ने प्रशासन पर सत्ता के दबाव में काम करने का आरोप लगाते हुए शनिवार को मोर्चा खोल दिया। सपा का एक प्रतिनिधिमंडल एसपी से मुलाकात कर भाजपा पर सत्ता का दुरूपयोग करने वोटरों को धमकाने तथा सपा के लोगों पर फर्जी मुकदमा दर्ज कराने का आरोप लगाया।

प्रतिनिधिमंडल में शामिल विधायक आलमबदी, बसपा विधायक वन्दना सिंह व सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने पुलिस अधीक्षक से कहा कि सत्ता पक्ष द्वारा गरीबों व जनता को धमकी देकर वोट लेने की बात कही जा रही है। उनके इशारे पर प्रशासन व पुलिस द्वारा फर्जी एफआईआर दर्ज कराकर परेशान किया जा रहा है। जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के साल्हेपुर में सपा बूथ प्रभारी रामदरस राजभर को जान से मारने की धमकी दी गई। मोलनापुर में सर्वेश राम प्रधान को 04 अप्रैल को भाजपा के नेताओं के कहने पर मुल्जिम बना दिया गया।

जहानागंज थाने में कादीपुर में विस अध्यक्ष शोभनाथ यादव व अन्य लोगों को अभियुक्त बनाया गया है। इसी तरह शनिवार को तरवां थाना क्षेत्र के हैबतपुर डुभॉव गांव की अनुसूचित बस्ती में भाजपा के दबंगों द्वारा महिलाओं को गालियां दी गयी तथा उनको बुरी तरह मारा-पीटा गया। भाजपा के नेता प्रशासन व पुलिस के बदौलत जनता में भय व आतंक फैलाकर निष्पक्ष चुनाव नहीं होने देना चाहते है। शायद वे लोग सपा व बसपा के कार्यकर्ताओं की ताकत को नहीं जानते। उनका मुंहतोड़ जवाब मिलेगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned