ड्रोन के साथ निकली पुलिस, संवेदनशील क्षेत्रों की मैपिंग

ड्रोन के साथ निकली पुलिस, संवेदनशील क्षेत्रों की मैपिंग
Surveillance

जिला मुख्यालय व फरिहां में ड्रोन कैमरा बना कौतूहल

आजमगढ़. हिंसा प्रभावित क्षेत्रों के साथ ही सोमवार को शहर के संवेदनशील इलाकों का भी ड्रोन कैमरे से निरीक्षण व मैपिंग की गयी। जगह-जगह रूट मार्च भी निकाला गया। पूरा शहर पुलिस छावनी में तब्दील नजर आया। 
अपर पुलिस अधीक्षक नगर डा. विपिन ताड़ा के नेतृत्व में शहर के तकिया सहित विभिन्न मोहल्लों का ड्रोन कैमरे से निरीक्षण किया गया। वहीं दूसरी तरफ रूट मार्च निकालकर लोगों से शांति व्यवस्था कायम रखने की अपील की गयी। हिंसा प्रभावित निजामाबाद थाना क्षेत्र के फरिहां चौक व आसपास क्षेत्रों में अपर पुलिस अधीक्षक नगर की देखरेख में अपराह्न 3 बजे मानीटरिंग व मैपिंग की गयी। 

इसके बाद खोदादादपुर, दाउदपुर, बनगांव, सरायमीर आदि क्षेत्रों में भी ड्रोन कैमरा नजर आया। आम आदमी के लिए ड्रोन कैमरा कौतुहल का विषय बना हुआ है। वहीं अधिकारियों के लिए यह काफी मुफिद साबित हो रहा है। बता दें कि बीते 14 मई को खोदादादपुर गांव में हुई सांप्रदायिक हिंसा 15 मई को आसपास के क्षेत्रों बनगांव, सरायमीर, फरीदाबाद, संजरपुर तक पहुंच गयी थी। तभी से जिले में आरएएफ व 14 बटालियन पीएसी मौजूद है। 

हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में भारी संख्या में पीएसी तैनात की गयी है तो अन्य क्षेत्रों में भी अधिकारी नजर बनाये हुए हैं। हिंसा थमने से सभी राहत की सांस ली है लेकिन प्रशासन किसी तरह का जोखिल नहीं उठाना चाहता। अधिकारी पूरी तरह सतर्क नजर आ रहे हैं। यही कारण है कि प्रतिदिन रूट मार्च व ड्रोन कैमरे से मानीटरिंग की जा रही है।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned