सीएम योगी के फैसले से खुश हुए शिक्षक, विश्वविद्यालय की नींव से पहले की कुलपति के तैनाती की मांग

विश्वविद्यालय के लिए भूमि का प्रस्ताव स्वीकृत होने के बाद जिले के शिक्षकों ने जहां सीएम योगी आदित्यनाथ का आभार जताया वहीं तत्काल कुलपति की तैनाती कर विश्वविद्यालय से जुड़े कार्यों में तेजी लाने की मांग की।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ. लंबी जद्दोजहद के बाद विश्वविद्यालय की आस पूरी हुई तो जिले के शिक्षक खुशी से झूम उठे। विश्वविद्यालय के लिए भूमि का प्रस्ताव स्वीकृत करने तथा निर्माण के लिए धन आवंटन करने के लिए शिक्षकों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार जताया साथ ही तत्काल कुलपित के नियुक्ति की मांग की ताकि विश्वविद्यालय से जुड़े कार्य निर्धारित समय व गुणवत्ता पूर्ण तरीके से पूरा हो सके।

महाविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष डा. प्रवेश सिंह ने कहा कि अब विश्वविद्यालय के लिए क्षण भर का भी विलम्ब न करते हुए निर्माण कार्य पर जोर देते हुए एक तय मियाद की सीमा के भीतर भवन का निर्माण कराया जाए ताकि योगी सरकार के समय प्रतिबद्धता का मानक अन्य सरकारों के लिए नजीर बन सके। मुख्यमंत्री निर्माण को अपेक्षित गति देने के लिए कुलपति की तैनाती करें।

उन्होंने कहा कि देर से ही सही प्रदेश के मुखिया ने आजमगढ़ जैसे पिछड़े जिले में ज्ञान की गंगा बहाने का जो भागीरथी प्रयास किया है वह मील का पत्थर साबित होगा। आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय से ज्ञान का दीपक चैतरफा उजाला बिखेरेगा। आजमगढ़ जैसे पिछड़े जिले में विश्व विद्यालय जैसा ड्रीम प्रोजेक्ट स्थापित कर मुख्यमंत्री ने समस्त जनपदवासियों को ऋणी बना लिया ंहै। जनपद के लिए अन्य सरकारों ने भी कई बड़ी सौगातें दिये है लेकिन देश के कर्णधारों को शिक्षा का हथियार थमाने का जो काम योगी सरकार ने किया है वह अद्वितीय साबित होगा।

विश्वविद्यालय अभियान टीम के संयोजक डा. सुजीत भूषण ने कहा कि जनपदवासियों के सार्थक प्रयास की जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है। शासन, कुलपति के नाम की घोषणा कर उनके मातहतों की शीध्र से शीध्र तैनात कर व्यवस्था को बेहतर गति प्रदान करें। बधाई देने वालों में डा. बाबर, महामंत्री डा इन्द्रजीत, पूर्वांचल विवि शिक्षक संघ के उपाध्यक्ष डा राजीव त्रिपाठी, महामत्री डा अजीत सिंह, डा जिम्मी, डा अलाउद्दीन, डा फखरे आलम, डा रविन्द्र, डा ईश्वर चन्द्र, डा वीरेन्द्र, डा मधु, डा फूलचन्द्र सिंह, डा जितेन्द्र, डा कौशल, डा रामानंद आदि शामिल रहे।

BYRan vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned