यूपी की बेरहम पुलिस, महीना नहीं मिला तो किन्नरों को सरेआम पीटा, किन्नरों ने की एसपी से फरियाद

आजमगढ़ में किन्नरों ने लगाया थानेदार पर महीना न देने पर बेरहमी से पिटायी का आरोप, पुलिस अधीक्षक से मिलकर की फरियाद।

आजमगढ़. यूपी पुलिस पर आम आदमी के उत्पीड़न और उनसे अवैध वसूली का आरोप लगना तो आम है लेकिन अब पुलिस किन्नरों को भी नहीं छोड़ रही है। महीना न देने पर थानेदार ने एक किन्नर को बुरी तरह मारापीटा, उसे धकमी दी लेकिन आलाधिकारी मामले पर चुप्पी साधे हुए है। इस ममाले को लेकर जब किन्नरों ने एसपी कार्यालय पर प्रदर्शन किया तो एसपी ने यह कहकर मामला टाल दिया कि किन्नर दो हिस्ट्रीशीटरों को संरक्षण दिये है।

 

मामला बरदह थाना क्षेत्र का का है। एसपी कार्यालय पहुंचे किन्नरों का आरोप है कि वह लोगों से मदद मांग किसी तरह दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करते हैं लेकिन बरदह थानेदार लंबे समय से उनसे महीना मांग रहे है। किन्नर राधा ने आरोप लगाया कि थानेदार ने महीना देने पर मना करने पर उन्हें पकड़कर बुरी तरह मारा पीटा और धमकी दी। उनका कहना है कि अगर क्षेत्र में रहना है तो महीना देना ही पड़ेगा।

 

इस दौरान किन्नर ने पिटाई से लगी चोट को भी लोगों को दिखया। कहा कि पहले तो थानेदार हमसे महीना मांगते है। फिर कहते हैं कि हमारे लिए मुखबिरी करो। मांगकर जिंदगी गुराजने वाले किसी की मुखबिरी कैसे कर सकते है। हमारे लिए अपना पेट भरना मुश्किल है ऐसे में उनकों महीना कहां से दें। किन्नरों ने एसपी से शिकायत कर मामले की जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह का कहना है कि गांव से काफी दूर किन्नर समाज के लोग रहते हैं और यहां पर दो हिस्ट्रीशीटर बदमाशों को रखने का मामला प्रकाश में आया है, फिर भी हम मामले की जांच करा रहे हैं और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

By Ran Vijay Singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned