आजमगढ़ में दो मासूमों की हत्‍या, कातिल ने अपनाया है एक ही तरीका

आजमगढ़ में दो मासूमों की हत्‍या, कातिल ने अपनाया है एक ही तरीका

दोनों ही मासूमों की हत्‍या के पीछे एक ही आदमी का हाथ हो सकता है

आजमगढ़.  दीदारगंज थाना क्षेत्र के सुरहन गांव में एक बालक की संदिग्‍ध मौत होती है। मौत की वजह सिर में गंभीर चोट सामने आती है और परिजन इसे दुर्घटना मान शव का अं‍तिम संस्‍कार कर देते है लेकिन इस घटना के ठीक 21वें दिन एक और बच्‍चे की लाश पोखरी में मिलती है। पुलिस को शव के सिर में चोट के जख्‍म मिलते है और शव पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया जाता है। 


इस घटना के बात ग्रामीणों को समझ में आता है कि दोनों ही मौतों में कुछ समानता है। फिर चर्चा इस बात की शुरू होती है कि कही दोनों बच्‍चों के साथ दुराचार करने के बाद उनकी हत्‍या तो नहीं की गयी, या फिर तंत्र मंत्र के चक्‍कर में उन्‍हें मार दिया गया। वैसे पुलिस को पीएम रिपोर्ट का इंतजार है। ऐसे में एक सवाल यह भी है कि क्‍या पुलिस दूसरी लाश भी निकलवाकर पीएम करायेगी। कारण कि अगर तंत्र मंत्र का चक्‍कर है तो दोनों ही मासूमों की हत्‍या के पीछे एक ही आदमी का हाथ हो सकता है। ग्रामीण ही नहीं आसपास के गांव के लोग भी दहशत में है। उन्‍हें समझ नहीं आ रहा कि आखिर मासूम बच्‍चों के साथ कोई ऐसा कैसे कर सकता है।


बता दें कि दीदारगंज थाना क्षेत्रके सुरहन गांव में सोमवार की सुबह पोखरी में हत्या कर फेंकी गई आर्यन 8 की लाश पाई गई थी। पुलिस इस मामले की छानबीन में जुटी है। इसके पूर्व गत गत 23 अप्रैल को इसी गांव के राघवेंद्र सिंह का 6 वर्षीय पुत्र आर्यन सुबह गांव में स्थित मंदिर पर देखा गया। इसके बाद अपराह्न करीब एक बजे आर्यन मंदिर के पीछे स्थित बगीचे में घायल अवस्था मिला था। जानकारी होने पर परिजन उसे इलाज के लिए जौनपुर ले जा रहे थे कि रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। सिर में लगी घातक चोट बालक की मौत की वजह थी। परिजनों ने इसे दुर्घटना मान शव को दफना दिया था।
 


अब उस घटना के 21वें दिन 8 वर्षीय आदित्य का शव मिलने से गांव के लोग दोनों बच्चों की मौत को लेकर चर्चा करते नजर आ रहे हैं । इस दौरान गांव में तंत्र क्रिया करने वाले लोगों पर भी संदेह व्यक्त किया जाने लगा है। साथ ही लोगों ने आशंका जताई कि कहीं दोनों मासूम किसी का सरफिरे युवक की दरिंदगी का शिकार तो नहीं हो गए । हालांकि आदित्य के पिता द्वारा गांव के एक युवक के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। मासूमों की मौत के रहस्य से पर्दा उठने के लिए गांव के लोग आरोपी के गिरफ्तारी का इंतजार कर रहे हैं।
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned