परदेस कमाने गए आजमगढ़ के दो युवकों की हत्या

परदेस कमाने गए आजमगढ़ के दो युवकों की हत्या
Two man murderd

बरदह थाना क्षेत्र के महुजा नेवादा गांव के निवासी थे मृतक। शोक में महुजा नेवादा बाजार बंद, गांव में पसरा मातमी सन्नाटा।

आजमगढ़. बरदह थाना क्षेत्र के महुजा नेवादा गांव की राजभर बस्ती में सोमवार की सुबह कोहराम मच गया। घर से कमाने गए दो युवकों की अलग-अलग प्रांतों में हत्याकर दी गई। यह दुखद समाचार सोमवार की सुबह जैसे ही गांव में पहुंचा वहां कोहराम मच गया। लोग एक साथ हुई दो घटनाओं से सदमे में आ गये। घटनाओं के शोक में सोमवार को नेवादा महुजा बाजार बंद रहा।




महुजा नेवादा ग्राम निवासी ठाकुर दयाल राजभर (38 वर्ष) पुत्र बाबूराम एक वर्ष पूर्व कमाने की गरज से मुंबई गया था। वहां वह मुंबा देवी इलाके में रहकर किसी प्राइवेट कंपनी में काम करता था। सोमवार की भोर में मुंबई पुलिस ने ठाकुर दयाल के छोटे भाई रामवृक्ष को फोन पर जानकारी दी कि ठाकुर दयाल की हत्या कर दी गई है और आरोपी भी पकड़ा गया है। खबर पाते ही परिवार में कोहराम मच गया। परिजनों के अनुसार महाराष्ट्र पुलिस द्वारा सूचना के अनुसार ठाकुर दयाल की मुंबई के मजगांव थाना क्षेत्र में रविवार की रात हत्या कर दी गई।




इस मामले में पुलिस ने बरदह थाना क्षेत्र के बेलवाना ग्राम निवासी अजय राजभर को गिरफ्तार किया है। आरोपी अजय व मृतक ठाकुर दयाल के घरों की दूरी मात्र 200 मीटर पर है। इस घटना से मृतक की पत्नी मनभावती का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक के तीन पुत्र बताए गए हैं। अभी गांव के लोग इस घटना की चर्चा में जुटे थे कि उसी दौरान गांव वालों को जानकारी मिली कि राजभर बस्ती के अमरनाथ राजभर (35) पुत्र जियालाल की चंडीगढ़ शहर में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। इस जानकारी के बाद गांव में मानो भूचाल आ गया हो।




बताते हैं कि मृतक अमरनाथ पिछले दस वर्षों से परिवार सहित चंडीगढ़ में रहता था। रविवार की शाम वह सरकारी राशन की दुकान पर खाद्यान्न लेने के लिए घर से निकला और फिर वापस नहीं लौटा। परिजन अपने स्तर से अमरनाथ की तलाश कर रहे थे कि सोमवार की सुबह वह घायलावस्था में अपने घर पहुंचा। उपचार के लिए अस्पताल ले जाते समय रास्ते में उसकी मौत हो गई।





परिजनों को मिली जानकारी के अुनसार खाद्यान्न लेते वक्त अमरनाथ की कुछ स्थानीय लोगों से विवाद हुआ। उन लोगों ने अमरनाथ को बुरी तरह मारापीटा और पूरी रात एक कमरे में कैद रखा। अधिक रक्तस्राव हो जाने के कारण हमलावरों ने सोमवार की सुबह उसे छोड़ दिया। घर से अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। एक ही गांव के रहने वाले दो युवकों की गैर प्रांतों में हुई हत्या की घटना से क्षेत्र के लोग भी हतप्रभ हैं। मृतक अमरनाथ तीन भाई बहनों में सबसे बड़ा और उसके दो बच्चे बताए गए हैं।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned