फिर सुलगा मुलायम का आजमगढ़, दो पक्ष आमसे-सामने: कई घायल 

दो समुदायों के बीच तनाव, पुलिस बल तैनात

आजमगढ़. बरदह थाना क्षेत्र के बरौना गांव में सोमवार की सुबह विवादित भूमि पर किए जा रहे निर्माण कार्य को लेकर दो समुदायों के लोग आमने-सामने हो गए दोनों पक्षों के बीच जमकर ईंट-पत्थर चले। इस घटना में तीन लोग घायल हो गए इसकी जानकारी होने पर कई थानों की फोर्स व अधिकारी मौके पर पहुंच गए। गांव में व्याप्त तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस ने दोनों पक्षों को चेतावनी देते हुए भूमि की पैमाइश कराने के बाद निर्माण करवाने की बात कही।




क्षेत्र के बरौना ग्राम निवासी पप्पू बिंद पुत्र दुखंती सोमवार की सुबह अपनी भूमि पर निर्माण कार्य करा रहा था। उसी दौरान गांव के सेराज व शमशेर पुत्रगण सलीम कुछ लोगों के साथ मौके पर पहुंचे और निर्माण स्थल वाली भूमि को कब्रिस्तान की भूमि बताते हुए निर्माण कराने से मना किया। निर्माण कार्य करा रहे लोगों द्वारा उनकी बात अनसुनी कर दिए जाने पर मना कर रहे लोगों के समर्थन में गांव के तमाम लोग आ गए। इस बात की जानकारी होने पर निर्माणकार्य करा रहे लोगों के समर्थक भी मौके पर जुट गए। देखते ही देखते दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। मौके पर जमकर लाठी-डंडे व ईंट-पत्थर चलने लगे। इसकी सूचना किसी ने 100 नंबर डायल पर दी।




पुलिस मौके पर पहुंची तो उग्र लोगों ने 100 डायल सेवा वाहन को घेर लिया। ग्रामीणों से घिरे पुलिसकर्मियों ने इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी। सूचना पाते ही सीओ लालगंज एसपी तोमर, एसओ बरदह संजय कुमार रेड्डी तथा कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। कुछ समय बाद एसडीएम मार्टीनगंज केडी यादव तहसीलदार शिवसागर दुबे के साथ मौके पर पहुंचे। एसडीएम की उपस्थिति में विवादित भूमि की पैमाइश कराई गई। इस दौरान जानकारी मिली कि गांव में चकमार्ग के नाम दर्ज भूमि पर निर्माणकार्य कराया जा रहा था। 




जिसपर एसडीएम केडी यादव के निर्देश पर कराए गए निर्माण कार्य को जेसीबी की मदद से ध्वस्त करा दिया गया। उधर पुलिस की मदद से घायल पप्पू बिंद, सेराज व शमशेर को इलाज के लिए स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया। गांव में तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

Show More
ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned