यूपी के आजमगढ़ में दो समुदाय आमने-सामने, फायरिंग में कई घायल- पीएसी तैनात

  यूपी के आजमगढ़ में दो समुदाय आमने-सामने, फायरिंग में कई घायल- पीएसी तैनात
Two Side Violence,

वर्ष 2012 में चुनावी रंजिश को लेकर दोनों समुदाय में हुआ था बवाल...  

आजमगढ़. योगी सरकार में जिले की कानून व्‍यवस्‍था सुधरने का नाम नहीं ले रही है। अभी महराजगंज थाना क्षेत्र में हुई हिंसा शांत ही हुई थी कि, शुक्रवार की सुबह 8 बजे बरदह थाना क्षेत्र के इसहाकपुर गांव में बकरी के विवाद में दो समुदाय के लोग आमने सामने हो गये।






इस दौरान जमकर मारपीट हुई। एक पक्ष द्वारा इस दौरान फायरिंग की गई जिसमें राजभर जाति के दो लोग घायल हो गये। जबकि मारपीट में दूसरे पक्ष के दो लोग घायल हो गये। गोली लगने से घायल दो लोगों का उपचार जिला अस्‍पताल में चल रहा है। तनाव को देखते हुए गांव में पीएसी तैनात कर दी गयी है।




Two Side Violence



































बताते हैं कि, बुधवार की अपराह्न तीन बजे शाम गांव के सिवान में स्थित शमीम के परती खेत में छोटेलाल की बकरी घुस गयी थी। इस बात से नाराज होकर कुछ मुस्लिम युवकों ने गावं  के  रंजीत पुत्र  स्व. शिव  कुमार को मारपीट कर घायल कर दिया था। उस समय पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और शांतिभंग की धारा में कार्रवाई कर शांत बैठ गई।







इसी बात को लेकर शुक्रवार की सुबह दोनों पक्षों  के लोगों ने  एक -दूसरे  को  दौडा-दौडा कर  पीटना  शुरू कर दिये। बात इतनी बढ़ गई कि एक पक्ष के लोगों ने फायरिंग शुरू कर दी। बताते हैं कि गोली लगने से छोटेलाल 35 पुत्र वंशू व हृदय 30 पुत्र बाबूराम  घायल हो गये। जबकि दूसरे पक्ष के समीम अहमद 20 पुत्र अब्दुल  हकीमं, आफताब  आलम 43पुत्र  जावेद को लाठी डंडे से चोटे आयी। सभी घायलों को सथानीय स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र लाया गया। जहां चिकित्‍सक ने हालत गंभीर देख छोटेलाल और हृदय को जिला अस्‍पताल रेफर कर दिया। दोनों का उपचार जिला अस्‍पताल में चल रहा है।



 




वहीं घटना की जानकारी होने पर थानाध्‍यक्ष बरदह केएस सिंह,  दीदारगंज व  गंभीरपुर मय फोर्स मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने भीड़ को किसी तरह तितर बितर किया। तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिस के साथ ही पीएसी तैनात कर दी गई है।  



 
गौरतलब है कि, वर्ष  2012  मे  भी  इसाहाकपुर  गावं  में  चुनावी रंजिश को लेकर दो समुदाय के लोग आमने आमने हुए थे। उस समय हुए बवाल में कई लोग घायल हुए थे।


खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned