scriptUP assembly elections 2022 increase tension of Akhilesh yadav | UP assembly elections 2022: यहां अपने ही बुने जाल में उलझ सकती है सपा, टिकट के लिए दिख रहा भारी घमासान | Patrika News

UP assembly elections 2022: यहां अपने ही बुने जाल में उलझ सकती है सपा, टिकट के लिए दिख रहा भारी घमासान

UP assembly elections 2022 आजमगढ़ जिले की दीदारगंज विधानसभा सीट पर सपा अपने ही बुने जाल में उलझती दिख रही है। एक तरफ सपा सुभासपा इस सीट को अपने खाते में चाहती है वहीं पार्टी के तीन बड़े नेता लगातार टिकट की दावेदारी कर रहे हैं। यही नहीं बसपा से कमलाकांत राजभर टिकट के शर्त पर ही पार्टी में आए हैं। जबकि टिकट किसी एक को मिलना है।

आजमगढ़

Published: January 22, 2022 06:11:18 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़.UP assembly elections 2022 यूपी विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद से ही राजनीतिक दलों में टिकट के लिए घमासान मची हुई है। गठबंधन की राजनीति में दावेदार टिकट कटने के डर से सहमें हुए हैं तो दूसरा दल छोड़कर आये नेता टिकट के लिए पूरी ताकत लगा रहे हैं। आजमगढ़ जिले की दीदारगंज विधानसभा में टिकट को लेकर घमासान इतनी बढ़ गयी है कि अब मतदाता भी कन्फ्यूज नजर आ रहा है। सबसे अधिक खींचतान सपा में दिख रही है।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

बता दें कि वर्ष 2007 तक दीदारगंज विधानसभा सुरक्षित थी। इसे सरायमीर के नाम से जाना जाता था। इसके बाद हुए परिसीमन में वर्ष 2012 में नाम बदलकर दीदारगंज कर दिया गया। साथ ही इसे सुरक्षित से अनारक्षित कर दिया गया। सामान्य होने के बाद सपा और बसपा के बीच सीधा मुकाबला देखने को मिला था। सपा के आदिल शेख ने इस सीट से जीत हासिल की थी। उन्होंने बसपा के कद्दावर नेता पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सुखदेव राजभर को करीब 2700 मतों से पराजित किया था।

इसके बाद वर्ष 2017 के चुनाव में भी दोनों ही प्रत्याशियों के बीच मुकाबला देखने को मिला लेकिन बाजी सुखदेव राजभर के हाथ लगी थी। सपा के आदिल शेख को हार का सामना करना पड़ा था। सपा वर्ष 2022 में इस सीट को किसी भी हालत में जीतना चाहती है। सपा से पूर्व विधायक आदिल शेख, पूर्व मंत्री राम आसरे विश्वकर्मा, पूर्व मंत्री डा. राम दुलार राजभर दावेदारी कर रहे थे। इस सीट मुस्लिम और राजभर मतदाता सर्वाधिक हैं इसलिए टिकट की लड़ाई सीधे तौर पर रामदुलार और आदिल शेख के बीच थी लेकिन परिस्थिति तब बदली जब दो माह पूर्व पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सुखदेव राजभर ने अखिलेश को पत्र लिखकर उन्हें पिछड़ों का सबसे बड़ा नेता करार दिया और अपने पुत्र कमलाकांत को सपा में शामिल करने की बात कही।

कमलाकांत इस उम्मीद से सपा में शामिल हुए कि उन्हें टिकट मिलेगा। इसी बीच सुखदेव राजभर का निधन होने से यह सीट खाली हो गयी। सपा ने सुभासपा से गठबंधन कर लिया। चुंकि इस विधानसभा में 70 हजार राजभर वोट है इसलिए ओमप्रकाश भी इस सीट की डिमांड कर रहे हैं। अब सपा के सामने दुविधा की स्थिति है। कमलाकांत के साथ पिता के निधन की वजह से सहानुभूति हैं। वहीं तीन दावेदार पहले से मौजूद हैं। अगर पार्टी सीट सुभासपा को देती है तो कमलाकांत सहित चारों की दावेदारी समाप्त हो जाएगी। नहीं देते हैं तो भी पार्टी के तीन दावेदार नाराज होंगे।

बसपा ने बाहुबली भूपेंद्र सिंह मुन्ना को मैदान में उतार ऐसे भी विपक्ष की मुश्किल बढ़ा दी है। वर्ष 2012 में अगर आदिल शेख चुनाव जीते थे तो उसमें मुन्ना का बड़ा योगदान था। अब मुन्ना खुद मैदान में हैं। वहीं बीजेपी से कृष्ण मुरारी विश्वकर्मा का लड़ना तय माना जा रहा है। कांग्रेस भी किसी पिछड़ी जाति के नेता को उम्मीदवार बना सकती है। एसे में सपा के सामने बिकट स्थिति उत्पन्न हो गयी है। अपनों की नाराजगी पार्टी पर भारी पड़ सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

अनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'Haj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हरायालगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’Asia Cup Hockey 2022: अब्दुल राणा के आखिरी मिनट में गोल की वजह से भारत ने पाकिस्तान के साथ ड्रा पर खत्म किया मुकाबला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.