scriptUP government give small steamer to boatmen in flood area | नाविकों के आएंगे अच्छे दिन, सरकार बाढ़ क्षेत्र में नाविकों को उपलब्ध कराएगी छोटा स्टीमर | Patrika News

नाविकों के आएंगे अच्छे दिन, सरकार बाढ़ क्षेत्र में नाविकों को उपलब्ध कराएगी छोटा स्टीमर

बाढ़ क्षेत्र में प्रभावितों की मदद के लिए यूपी की योगी सरकार चुनिंदा नाविकों को मुफ्त में छोटा स्टीमर देगी। इसे सरकार का अनूठा प्रयोग माना जा रहा है। कारण कि इसे देते समय नाविकों से करार किया जाएगा कि बाढ़ के समय वे प्रभावितों की मदद के लिए मुफ्त में काम करेंगे। राहत आयुक्त कार्यालय इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर रहा है और जल्द ही उच्च स्तर से इसके लिए अनुमति लेने की तैयारी है। अनुमति मिलते ही नाविकों को चिन्हित कर छोटा स्टीमर उपलब्ध कराया जाएगा।

आजमगढ़

Published: December 31, 2021 03:00:58 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रतिवर्ष अपादा के चलते होने वाली जनहानि को रोकने तथा बाढ़ पीड़ितों की त्वरित मदद के लिए राहत आयुक्त कार्यालय ने बड़ा निर्णय लिया है। इसके तहत बाढ़ प्रभावितों की मदद के लिए कुछ नाविकों को मुफ्त में छोटा स्टीमर दिया जाएगा। इसे देते समय नाविकों से करार किया जाएगा कि बाढ़ के समय वे प्रभावितों की मदद के लिए मुफ्त में काम करेंगे। राहत आयुक्त कार्यालय इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर रहा है और जल्द ही उच्च स्तर से इसके लिए अनुमति लेने की तैयारी है। अनुमति मिलते ही नाविकों को चिन्हित कर छोटा स्टीमर उपलब्ध कराया जाएगा।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

बता दें कि पूर्वांचल में बलिया, आजमगढ़ गाजीपुर सहित तमाम जिले हैं जहां प्रतिवर्ष बाढ़ के कारण प्रतिवर्ष जनहानि होती है। इसके पीछे बड़ा कारण त्वरित सहायता का न मिलना है। पूर्वांचल के एक दर्जन से अधिक जिलों को अति संवेदनशील श्रेणी में रख ागया है। इन जिलों में हर साल हजारों परिवारों को विस्थापित होना पड़ता है। अचानक बाढ़ आने पर अधिकतर परिवार उसी में फंस जाते हैं। इन्हें निकालने के लिए नाविकों की मदद ली जाती है। इसके एवज में सरकार उन्हें पैसा देती है। अक्सर ऐसा होता है कि नाविक न मिलने पर लोगों को समस्या का सामना करना पड़ता है। वहीं नाव हादसा होने पर सहायता न मिलने की स्थिति में जनहानि होती है। इसीलिए राहत आयुक्त कार्यालय चाहता है कि पहले चरण में बाढ़ के लिए अति संवेदनशील जिलों में नाविकों को मुफ्त में स्टीमर दे दिया जाए।

इसके लिए राज्य आपदा मोचक निधि से बजट की व्यवस्था की जाएगी। राहत आयुक्त कार्यालय के मुताबिक बजट की व्यवस्था करने के बाद स्थानीय स्तर पर सर्वे कराया जाएगा कि कितने नाविकों को इसे दिया जाना है। पहले चरण में उनके नाम एकत्र किए जाएंगे। इसके आधार पर स्टीमर खरीदा जाएगा। इसके रख-रखाव और देखरेख की जिम्मेदारी संबंधित नाविक की होगी। डीएम के यहां इनकी सूची और फोन नंबर रहेगा और जरूरत पर इन्हें बुलाकर काम पर लगाया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Club House Chat मामले में दिल्ली पुलिस कर रही 19 वर्षीय छात्र से पूछताछ, हरियाणा से भी हुई तीन गिरफ्तारियांCorona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकामुंबई: 20 मंजिला इमारत में भीषण आग में दो की मौत, राहत बचाव कार्य जारीयूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवGood News: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बने माता-पिता, एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर फैंस को बताया- बेबी आया है...ओमिक्रॉन का कहर-20 दिन में 117 फ्लाइट्स कैंसिलसरकारी स्कूल में कोरोना विस्फोट, पांच छात्र समेत टीचर की रिपोर्ट पॉजिटिव, SDM ने एक सप्ताह के लिए स्कूल किया बंदलखीमपुर खीरी कांड में दूसरी चार्जशीट दाखिल, चार किसानों को बनाया आरोपी, तीन को राहत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.