आरक्षण में बिगड़ी गणित तो अब वफादार प्रत्याशियों की तलाश हुई तेज

-त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में खुलकर शुरू हुई गुणा गणित

-करीबियों को कुर्सी पर बैठाकर सत्ता की बागडोर हाथ में रखने की कोशिश में जुटे लोग

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए आरक्षण सूची जारी होने के बाद चुनावी सरगर्मी चरम पर पहुंच गयी है। आरक्षण में सीटों में हुए भारी बदलाव के बाद जिन दावेदारों का माननीय बनने का सपना टूटा है वे अपने वफादार लोगों को कुर्सी पर बैठाकर सत्ता अपने हाथ में रखने की कोशिश कोशिश में जुटे हैं। इसके लिए नए प्रत्याशियों की तलाश शुरू हो गयी है। यही नहीं चुनाव की घोषणा के पूर्व ही गांवों में शाम भी रंगीन होने लगी है। प्रचार के नाम पर दावतों को दौर भी शुरू हो गया है।

बता दें कि आजमगढ़ में प्रधान पद के 1858 पदों पर चुनाव होना है। इसमें 427 सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित की गयी है। इसी तरह पिछड़ी जाति के लिए 504 सीट, 299 सामान्य महिला के लिए आरक्षित की गयी है। 828 सीट अनारक्षित रखी गयी है। इसी तरह क्षेत्र पंचायत की 2104 सीटों में 559 सीट अनुसूचित जाति, 559 सीट पिछड़ी जाति, 324 सीट महिला के लिए आरक्षित की गयी है। 986 सीटों को अनारक्षित रखा गया है। ब्लाक प्रमुख की 22 सीटों में अनुसूचित जाति के लिए 5 सीट, पिछड़ी जाति के लिए 5 सीट, महिलाओं के लिए चार सीट आरक्षित की गयी है। 7 सीट अनारक्षित रखी गयी है। जिला पंचायत सदस्य की 84 सीटों में अनुसूचित जाति के 22, पिछड़ी जाति के लिए 22, महिलाओं के लिए 12 सीट आरक्षित की गयी है। 28 सीटों को अनारक्षित रखा गया है। जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षित की गई है।

सीटों के आरक्षण में हुए भारी बदलाव से कई बड़े नेता और बाहुबलियों का अपनों को प्रधान, ब्लाक प्रमुख अथवा जिला पंचायत सदस्य बनाने का सपना टूट गया है। इसलिए अब नया खेल शुरू हो गया है। उम्मीद से बिल्कुल इतर जहां पहली बार आरक्षण के कारण परिवर्तन हुआ है अब उस क्षेत्र के धुरंधर नए चेहरे की तलाश में जुट गए हैं। साथ ही अपने लिए दूसरी सीट पर किस्मत आजमाने की राह भी तलाश रहे हैं। नए प्रत्याशी भी ऐसे तलाशे जा रहे हैं जो जीत का सेहरा अपने सिर पर जरूर बांधे लेकिन सत्ता उन्हें सौंप दे जो उन्हें मैदान में उतार रहा है। सब मिलाकर स्थिति काफी दिलचस्प हो गयी है। साथ ही यह भी तय हो गया है कि चुनाव में खुलेआम शाम दाम दंड भेद का उपयोग होगा।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned