बसपा छोड़ते ही बदले विद्या चौधरी के सुर कहा, भाजपा के आगे मायावती ने टेक दिये घुटने

-रागिनी के भी बदले बोल, मायातवी पर लगाया अपराधियों व पूंजीपतियों से घिरे होने का आरोप

-बसपा छोड़ आये नेताओं का सपा कार्यालय में हुआ जोरदार स्वागत

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. बसपा छोड़कर सपा में शामिल हुई पूर्व मंत्री विद्या चौधरी और रागिनी के सुर सोमवार को बदले नजर आये। पार्टी बदलते ही दोनों नेता बसपा मुखिया पर हमलावर दिखी। विद्या चौधरी ने जहां बसपा मुखिया मायावती पर भाजपा के आगे नतमस्तक होने का आरोप लगाया वहीं रागिनी ने दावा किया कि बसपा मुखिया पूंजीपतियों और अपराधियों से धिरी हुई है। वहीं दूसरी तरफ दोनों नेता के पार्टी में शामिल होने से सपाई उत्साहित दिखे। उन्होंने पार्टी कार्यालय में दोनों का जोरदार स्वागत किया।

पूर्व मंत्री विद्या चौधरी ने कहा कि सपा में सबका सम्मान होता है। जो सभी वर्गों का सम्मान करते है उनके नेतृत्व में ही किसान, गरीब, नौजवान विरोधी भाजपा की योगी सरकार को हटाया जा सकता है। बसपा मुखिया ने भाजपा के सामने घुटने टेक दिया है।

रागिनी ने कहा कि बसपा डा. भीमराव अम्बेडकर व कांशीराम के रास्ते से भटक गयी है। बहन जी माफियाओं, अपराधियों व पूॅजीपतियों से घिरी हुई है। उनके लिए दलित केवल वोटों का सौदा करने के लिए रह गया है। अखिलेश यादव ही ऐसे नेता हैं जो भाजपा की सरकार हटा सकते हैं। उनके नेतृत्व में समूचा गरीब तबका इकट्ठा हो गया है।

राम कुंवर प्रजापति ने कहा कि भाजपा व बसपा दोनों पिछड़ों को ठगने का काम किया है। भाजपा पिछड़ों के अधिकार, आरक्षण को समाप्त कर रही है। हवलदार यादव ने कहा कि पार्टी में सम्मिलित होने वाले सभी नेताओं का स्वागत है। इन लोगों के पार्टी में आने से जनपद में पार्टी को ताकत मिली है। आने वाले विधानसभा 2022 चुनाव में विधानसभा में दस की दसों सीटें सपा जितेगी।

इस मौके पर पूर्व सांसद नन्दकिशोर यादव, पूर्व विधायक बेचई सरोज, बृजलाल सोनकर, पूर्व अध्यक्ष अखिलेश यादव, पूर्व प्रत्याशी जयराम सिंह पटेल, पूर्व अध्यक्ष जिला पंचायत मीरा यादव, कमला यादव, विजय यादव, इसरार अहमद, बबिता चैहान, प्रेमा यादव, आशा यादव, द्रौपदी पाण्डेय, किरन श्रीवास्तव, सपना निषाद, गुड्डी देवी, शशिकला सिंह, सुनीता उपाध्याय, श्यामदेव चैहान, राजेश यादव, राजाराम सोनकर, रामआसरे राय, दीपक यादव, निशान्त राय, अर्पित श्रीवास्तव, वीरेन्द्र यादव, अजीत कुमार राव आदि उपस्थित थे।

by ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned