कालाबाजारी के खेल से उठा पर्दा, ग्रामीणों ने पकड़ा सरकारी खाद्यान्न

अधिकारी और पुलिस मामले की छानबीन में जुटी

By: Sunil Yadav

Published: 23 Jul 2018, 10:03 PM IST

आजमगढ़. मार्टीनगंज तहसील के विभिन्न गांव में गरीबों के लिए कोटेदार के माध्यम से खाद्यान्न वितरण के लिये आता है लेकिन कोटेदारो द्वारा खुलेआम बिचौलियों के हाथों बेच दिया जा रहा है। इसी क्रम में मार्टीनगंज विकास खण्ड के बिछियापुर गांव में ग्रामीणों ने बाजार में बिकने जा रहे 39 बोरी सरकारी गेहूं-चावल से लदे पिकअप को पकड़ लिया। ग्रामीणों ने वाहन को पुलिस के हवाले कर दिया। खाद्यान्न भोर में तीन बजे बाजार में बिकने के लिए जा रहा है। उक्त खाद्यान्न बिछियापुर के कोटेदार की बताई जा रही है।


पिकअप भादों निवासी रामचरन सेठ का है । खाद्यान्न की कालाबाजारी की शिकायत ग्रामीणों ने कई बार उच्च अधिकारियों से की थी लेकिन उसके खिलाफ किसी भी तरह की कोई कार्यवाही नहीं की गई जिसके चलते ग्रामीणो में आक्रोश था। ग्रामीण ने रात जगा कर बिकने जा रहे खाद्यान्न को पकड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहे थे। सोमवार की भोर में करीब तीन बजे जब खाद्यान्न निकला तो ग्रामीणों ने पकड़ लिया और डायल-100 पर सूचना दे दी। पकड़े गये खाद्यान्न को पुलिस के हवाले कर दिया।

 

ग्रामीणों का कहना है कि पकड़े गए खाद्यान्न की सूचना मार्टीनगंज के पूर्तिनिरीक्षक आनंद कुमार यादव को दी गई है। उन्होंने मौके पर पहुंचकर खाद्यान्न पकड़ने वाले ग्रामीणों से जिसमें लक्ष्मी शंकर यादव , रामाश्रय यादव , रोहित यादव , शंभूनाथ नोखेलाल , पारस , जीतेन्द्र , अखिलेश कुमार तथा उमेश कुमार से लिखित बयान लिया इसके बाद दूसरे पक्ष से भी बयान लिया। दुकानदार बिछियापुर रामबचन यादव के घर जाकर खाद्यान्न वितरण से संबंधित सभी रजिस्टर अपने कब्जे में ले लिया। उन्होंने बताया कि इसकी जांच की जाएगी जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ विभागीय कार्यवाही की जाएगी। थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने बताया कि खाद्यान्न पिकअप पर लदा हुआ थाने में आया है। संबंधित अधिकारी के द्वारा जो भी निर्णय लिया जाएगा दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी ।

 

BY- रणविजय सिंह

Sunil Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned