जीएसटी के विरोध में बुनकरों ने जुलूस निकालकर जताया विरोध

जीएसटी के विरोध में बुनकरों ने जुलूस निकालकर जताया विरोध
Gst

व्यापारियों ने कहा- जीएसटी लगा कर हमें सरकार बर्बाद करने पर तुली

आजमगढ़. मुबारकपुर नगर में रेशमी वस्त्रोद्योग व्यापार मण्डल के तत्वाधान में जी.एस.टी. के विरोध में बुनकर व्यापारियों ने सोमवार को अपनी अपनी दुकानें बन्द कर सरकार की गलत नीतियों पर विरोध दर्ज कराते हुये एक जुलूस निकाला। जुलूस नगर की विभिन्न गलियों से होते हुए कन्गूरा मस्जिद के पास पहुंच कर एक सभा में तब्दील हो गया।


व्यवसायी हाजी इफ्तेखार अहमद अंसारी ने कहा कि भारत में कृषि के बाद हथकरघा उद्योग ही एक ऐसा उद्योग है जो अनेकों परिवार को रोजी-रोटी से जोड़ता है। यह उद्योग भारत की एक धरोहर है, जिसको बचाने के लिए विभिन्न सरकारों ने अनेकों प्रयास किये हैं। उन्होंने कहा कि इस कारोबार को पूर्ववर्ती सरकारों ने बढ़ाने के लिए हमेशा कोई न कोई योजना चलाई है, जिससे बुनकरों और इससे जुड़े कारोबारियों का उत्थान हो सके लेकिन वर्तमान सरकार हमारी रोजी-रोटी पर जीएसटी जैसा घातक टैक्स लगाकर हमें बर्बाद करने पर तुली हुई है।


यह भी पढ़ें:

योगी सरकार ने एक साथ करीब दो दर्जन पुलिस वालों का किया तबादला, मचा हड़कंप


व्यवसायी हाजी अकरम अंसारी ने कहा कि वर्तमान सरकार इस उद्योग को जी.एस.टी. के दायरे में लाकर इस कुटीर उद्योग को बर्बाद करने पर तुली हुई है। अगर इसे वापस नहीं लिया गया तो हम आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। इस दौरान इफ्तार अहमद मुनीब, हाजी मन्सूर अहमद अंसारी, मुहम्मद असलम उर्फ बब्लू, हाजी मजहर अंसारी, जमाल अहमद, हाजी सईदुल्लाह अंसारी, हाजी मुहम्मद याकूब, हाजी एजाज हैदर, गुफरान अहमद, जमीर अहमद, मौलाना मुहम्मद अजमल अंसारी, रिजवान अहमद, रेयाज हैदर, अहमद जिया अंसारी आदि लोग उपस्थित थे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned