बढ़ सकती है योगी सरकार की मुश्किल, वाराणसी के बाद अब आजमगढ़ के बुनकरों ने की हड़ताल

फिक्सरेट पर बिजली की व्यवस्था समाप्त करने से नाराज है बुनकर

मुबारकपुर व जहानागंज में पावर लूम पर लटक रहा ताला

आजमगढ़. लंबे समय से बुनकरों को साधने में जुटी योगी सरकार की मुश्किल बढ़ती दिखाई दे रही है। कारण कि वाराणसी के बाद अब आजमगढ़ के भी बुनकरों ने फिक्सरेट पर बिजली की व्यवस्था को समाप्त करने का विरोध शुरू कर दिया है। जिले के पावरलूमों में गुरुवार से ही ताला लटका हुआ है। कारण कि बुनकर सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर चुके हैं। बुनकरों ने सरकार पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए आर-पार की लड़ाई की चेतावनी दी है।

 

बता दें कि पहले बुनकरों को फिक्स रेट पर बिजली मिलती थी। जिससे उन्हें काफी राहत थी। अब फिक्स रेट समाप्त कर दिया गया है। इससे उन्हें अधिक भुगतान करना पड़ सकता है। रोजी रोटी के संकट से जूझ रहे बुनकर इसे लेकर चिंतित हैं। यहीं वजह है कि सरकार के प्रति उनकी नाराजगी भी बढ़ रही है।


वाराणसी के बुनकरों ने बिजली को लेकर आंदोलन शुरू किया तो आजमगढ़ के बुनकर भी उनके साथ खड़े हो गए। करीब डेढ़ लाख बुनकर आबादी वाले मुबारकपुर में पावर लूम दो दिन से बंद हैं। लोग सड़क पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। बुनकरों का कहना है कि चैदह वर्षों से प्रति रूम 72 रूपए फिक्स रेट की जो व्यवस्था चल रही थी उससे उन्हें काफी राहत मिली थी। उसी व्यवस्था को बहाल किया जाए। कारण कि लॉक डाउन की मार से बुनकरों की स्थिति पहले भी बहुत खराब हो गई है। नई बिजली व्यवस्था का बोझ उठाने के लायक नहीं रह गये है।


कुछ ऐसा ही हाल जहानागंज का है। यहां भी पावरलूमों पर दो दिन से ताला लटक रहा है। बुनकर सेवा समिति के अध्यक्ष शफीक अहमद का कहना है कि फिक्स रेट के मामले को लेकर पिछले दिनों सरकार ने दो सप्ताह के अंदर समस्या का निस्तारण करने का आश्वासन दिया था लेकिन आज तक कोई फैसला नहीं किया गया। सरकार बुनकरों का शोषण कर रही है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जरूरत पड़ी तो हम आरपार की लड़ाई लड़ेगे।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned