मस्तिष्क का संतुलन बनाए रखना है तो जरूर करें योग: रवि प्रकाश

मस्तिष्क के संतुलन को बनाये रखने के लिए योग जरूरी है। इसके जरिये हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ा सकते है। योग मंच द्वारा बुधवार को बबुरा में योग शिविर आयोजित कर छात्र-छात्राओं को योग के प्रति जागरुक किया गया।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. योग मंच द्वारा कोरोना महामारी से लड़ने तथा 21 जून को विश्व योग दिवस के प्रति लोगों को जागरूक करने का अभियान शुरू किया है। इसके तरह संगठन द्वारा बुधवार को डीएवी पीजी कॉलेज में एनसीसी कैडेटों ताथा जहानागंज के बबुरा में शिविर का आयोेजन कर लोगों को योग के प्रति जागरुक किया गया। इस दौरान लोगों को बताया गया कि कैसे योग के जरिये अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं तथा मानसिक संतुलन को दुरुस्त रख सकते है।

रवि प्रकाश यादव ने बताया कि योग से सहनशीलता बढ़ती है और मन शक्तिशाली होता है। योगाभ्यास से मन मस्तिष्क का संतुलन बना रहता है जिससे दुख दर्द समस्याओं को सहन करने की शक्ति प्रदान होती है। योग विद्यार्थियों को आगे बढ़ने, आत्मविश्वास को बढ़ाने की शक्ति देता है

उन्होंने बताया कि छात्र छात्राओं को अनुलोम विलोम जैसे प्राणायाम का अभ्यास ज्यादा करना चाहिए। इससे उनका मेमोरी पावर तेज होगा और पढ़ाई में मन लगेगा साथ ही एकाग्रता भी बढ़ेगी। अनुलोम विलोम के नियमित अभ्यास से मस्तिष्क का संतुलन ठीक रहता है और किसी प्रकार की नकारात्मक सोच पैदा नहीं होती

इसी क्रम में उन्होंने कोरोना महामारी में इम्यून सिस्टम बढ़ाने वाली औषधि गिलोय के लाभ पर भी चर्चा की तथा छात्र छात्राओं में गिलोय का वितरण किया। इस अवसर पर रोवर्स रेंजर्स के प्रभारी प्रांशु सिंह ने रवि प्रकाश का आभार प्रकट करते हुए कहा कि योग प्राणायाम और गिलोय जैसी औषधि को सभी को अपने दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। जिससे दिनचर्या अच्छी हो। जब दिनचर्या अच्छी होगी तो जीवनशैली भी अच्छी होगी।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned