अब किसान इस तरह उठा सकते कृषि योजनाओं का लाभ, नहीं होगा बिचौलियों का झंझट

अब किसान इस तरह उठा सकते कृषि योजनाओं का लाभ, नहीं होगा बिचौलियों का झंझट
farmer

पंजीयन हेतु आवश्यक कृषक आधार नम्बर, बैंक एकाउन्ट पासबुक की छाया प्रति एवं भूमि का विवरण हेतु खतौनी की मांग

आजमगढ़. किसानों को योजनाओं की सीधी जानकारी और उसका लाभ देने के लिए सरकार ने खास योजना बनाई है। इसमें न तो बिचौलियों का झंझट होगा और ना ही उत्‍पीड़न का खतरा। लोग सीधे योजना का लाभ प्राप्‍त कर सकेंगे। जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने बताया कि कृषि विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं में अनुमन्य अनुदान का लाभ दिये जाने हेतु कृषकों को पारदर्शी किसान योजना के अन्तर्गत कृषि विभाग की वेबसाइट www.upagriculture.nic.in.com पर पंजीयन कराते हुए वस्तु की मांग किया जाना शासन द्वारा अनिवार्य कर दिया गया है। इसके व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु न्याय पंचायत स्तर पर कृषि विभाग के प्राविधिक सहायकों द्वारा कृषकों से सम्पर्क करते हुए पंजीयन कराये जा रहे है। पंजीयन हेतु आवश्यक कृषक आधार नम्बर, बैंक एकाउन्ट पासबुक की छाया प्रति एवं भूमि का विवरण हेतु खतौनी की मांग की जाती है।

उन्होंने कहा कि कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा मेरे संज्ञान में लाया गया है कि कतिपय कृषकों द्वारा आधार नम्बर एवं बैंक एकाउन्ट पासबुक की छायाप्रति देने में आना-कानी की जाती है अथवा प्रत्यक्ष रूप से देने से इन्कार किया जाता है। इसी प्रकार शासन की प्राथमिकताओं में सम्मिलित अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रम मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण के अन्तर्गत कृषकों के खेत से ग्रिड के आधार पर मृदों नमूने एकत्रित करने हेतु कृषक से वांछित सूचनायें प्राप्त की जाती है, इस कार्य में भी कुछ कृषकों द्वारा सहयोग न दिऐ जाने के कारण अपेक्षित प्रगति नही प्राप्त हो रही है।

उन्होंने समस्त किसानों से अपेक्षा किया है कि कृषि विभाग के कार्मिकों द्वारा पंजीयन तथा मृदा परीक्षण हेतु आवश्यक सूचना/अभिलेखों की मांग करने पर उसकी छाया प्रति उपलब्ध कराते हुए उन्हे अपेक्षित सहयोग प्रदान करना सुनिश्चित करें।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned