अखिलेश के गढ़ में सड़क पर उतरे युवा सपाई, योगी सरकार का बताया नकारा

बेरोजबारी, गरीबी, भ्रष्टाचार, किसान उत्पीड़न आदि मुद्दों को लेकर समाजवादी पार्टी फ्रंटल संगठनों ने जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया, जिलाधिकारी को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंप कार्रवाई की मांग की।

आजमगढ़. बेरोजगारी, किसान समस्या आदि मुद्दों को लेकर समाजवादी पार्टी युवा संगठनों के कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकालकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंप कार्रवाई की मांग की। लंबे समय बाद सपा के विरोध प्रदर्शन में बोल मुलायम हल्ला बोल का नारा सुनाई दिया। कार्यकर्ताओं ने योगी सरकार को नकारा बताते हुए 2022 के चुनाव में बीजेपी सरकार को उखाड़ फेकने का संकल्प लिया।

प्रदर्शन कर रहे सपाइयों ने कहा कि शिक्षा, बेरोजगारी, निजीकरण, भ्रष्टाचार, आरक्षण में कटौती आदि से सभी वर्गों के लोग परेशान हैं। प्रदेश सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रत्येक स्तर पर अव्यवस्था का माहौल बनता जा रहा है जिससे समाज प्रत्येक वर्ग में निराशा बनी हुई है। सरकार द्वारा लगातार किसानों की अनदेखी की जा रही है जिसका परिणाम यह है कि किसानों की स्थिति दिन-प्रतिदिन बद से बदतर होती जा रही है। वह आत्महत्या कर रहे हैं।


राज्य सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य, ऋण माफी, मुफ्त सिचाई, गन्ना किसानों को जल्द से जल्द भुगतान तथा किसानों की आय दोगुनी करने का जो वादा किया था उसे पूरा नहीं किया गया। शिक्षा के निजीकरण से गरीब छात्रों को शिक्षा से वंचित होना पड़ेगा। निश्शुल्क शिक्षा अथवा शिक्षा में आसानी प्रदान करना सरकार का कर्तव्य होना चाहिए। इस कोरोना काल में जब लोग दो वक्त की रोटी को तरस रहे हैं तब सरकार के संरक्षण में स्कूलों द्वारा छात्रों से फीस मांगी जा रही है।
प्रदर्शन में युवजन सभा के निवर्तमान जिलाध्यक्ष आदर्श सिंह शिशुपाल, छात्रसभा के आशीर्वाद यादव, राजेश गिरी, आमिर गुड्डू, लालजीत यादव, आकाश दीप सिन्हा, यूसुफ खान, विवेक राय, राजेश यादव, दीपक कुमार, पप्पू यादव, अर्पित श्रीवास्तव, निशांत राय टीपू आदि शामिल थे।

BY Ran vijay singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned