scriptAcharya Shiromani Vidyasagar Maharaj | पर्युषण पर्व : ब्रह्मचर्य का मतलब है जो आत्मा में रमण करें | Patrika News

पर्युषण पर्व : ब्रह्मचर्य का मतलब है जो आत्मा में रमण करें

आराधना की साधना की प्रयोग शाला और पर्वराज पर्युषण के अंतिम दिन उत्तम ब्रह्मचर्य धर्म पर प्रवचन हुए

बड़वानी

Published: September 09, 2022 07:22:57 pm

Vishal Yadav...
बड़वानी. दिगंबर जैन सिद्ध क्षेत्र बावनगजा पर विराजमान परम पूज्य आचार्य शिरोमणि विद्यासागर महाराज के अज्ञानुवर्ती शिष्य और युवा प्रखर वक्ता मुनि संधान सागर महाराज ने आज आराधना की साधना की प्रयोग शाला और पर्वराज पर्युषण के अंतिम दिन उत्तम ब्रह्मचर्य धर्म पर प्रवचन हुए।
वहीं पर्युषण पर्व के अंतिम दिन शुक्रवार दोपहर को तत्वार्थ सूत्र की क्लास हुई। उपवास करने वालों, समिति के संयोजक और प्रतियोगिता के विजेताओं का कमेटी द्वारा सम्मान किया गया। वहीं शाम को सिद्ध क्षेत्र में बैंड बाजों, बग्घी और भगवान का पालकी में जुलूस तलहटी से बड़े बाबा तक निकाला गया। इसके बाद अभिषेक किया। प्रवचन में मुनिश्री ने कहा कि ब्रह्म याने आत्मा और चर्य याने रमण करना याने जो अपनी आत्मा में रमण करना। हम संसार की चकाचौंध में इसे उलझे हुए है कि ब्रह्मचर्य की तरफ ध्यान ही नहीं है। हम आज चाम, काम, राम धाम ये चार बातों का ध्यान रखे। राम के धाम को प्राप्त करने के लिए चाम और काम को छोडऩा चाहिए। काम में अंदर हम व्यस्त रहते है और पांच इंद्रियों के सुख, विषय में उलझे रहते है। अपने आप को काम और चाम से उपर अजा, तो राम से जुड़ कर है अपने मुख्य धाम तक पहुंच जाएंगे और उसको प्राप्त कर लेंगे।
चाम के नहीं राम के दस बनो
संत शिरोमणि आचार्य गुरुवर विद्यासागर महाराज के परम प्रभावक शिष्य और युवा तरुणाई के प्रखर भक्त शिष्य मुनि संधानसागर महाराज जी ने आराधना प्रयोगशाला शिविर मे उपस्थिति संबोधित करते हुए कहा कि चाम के प्रति आकर्षक नहीं और काम का दस बना रखा है और राम के नाम से दूर किए हुए है। इसलिए चाम के नहीं राम के दस बनों। सिद्धक्षेत्र बावनगजा की पवन भूमि से पूज्य महाराज ने कहा की मत रुप निहारो दर्पण में दर्पण गंडला हो जाएगा। निज रूप निहारों अंतर मे अंतर उजला हो जाएगा। इस मौके पर पूज्य महाराज श्रीजी ने सारे सौधार्तियों को खड़े करके संकल्प दिलाया और ये संकप्ल दिलाया कि ना हम गर्भपात कभी करेंगे न करवाएंगे ना करने वाले की अनुमोदना करेंगे। साथ ही विवाह के पूर्व और विवाह से बाद कोई भी किसी भी प्रकार का अनैतिक संबंध नहीं रखेंगे। दस दिन जो विभिन्न प्रतियोगिताएं हुई नदद सभी प्रतियोगियों का सम्मान हुआ। सभी प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी प्राप्त करने वाले प्रतियोगियों का सम्मान ट्रस्ट कमेटी और चातुर्मास समिति ने किया।

 Acharya Shiromani Vidyasagar Maharaj
Acharya Shiromani Vidyasagar Maharaj

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

कफ सीरीप से 66 मौतें: भारत में सप्लाई के लिए फार्मा कंपनी के पास नहीं था लाइसेंस, 10 जरूरी अपडेटउत्तराखंड में हिमस्खलन स्थल से अब तक 19 शव बरामद, 10 अभी लापता, मौसम बन रहा बाधाकर्नाटक : ऐतिहासिक मदरसे में घुसी भीड़ पर पूजा करने का आरोप, 9 पर FIR, 4 गिरफ्तारIND vs SA, 1st ODI: साउथ अफ्रीका ने भारत को 9 रनों से हराया, सीरीज पर 1-0 से बढ़तदिल्ली में Anti Dust कैंपेन शुरू, नियम तोड़ने वाली कंस्ट्रक्शन साइटों पर लगेगा 5 लाख तक का जुर्माना'LG साहेब मुझे जितना डांटते हैं, उतना तो मेरी पत्नी भी नहीं डांटती, थोड़ा chill करो साहब', केजरीवाल का उपराज्यपाल पर तंजकतर फुटबॉल वर्ल्ड कप 2022 मेरा अंतिम होगा: लियानल मेसीMulayam Singh Yadav Health Update: मुलायम की स्थिति नाजुक, अखिलेश को देखकर फूटकर रोया सपा समर्थक कहा,नेताजी को बचा लीजिए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.