शिक्षक ने कहा वैक्सीन लगाने के बाद मेरे हाथ और पैर की वर्षों पुरानी जलन की बीमारी हुई दूर

वैक्सीन लगाने के बाद हाथ पैर की वर्षों पुरानी जलन की बीमारी हुई दूर, कई चिकित्सकों से करा चुके हैं इलाज लेकिन फायदा नहीं हुआ

By: vishal yadav

Published: 20 May 2021, 12:26 PM IST

बड़वानी/सेंधवा. कोरोना वैक्सीन के लगाने के बाद ऐसे कई मामले सामने आ रहे है, जिससे कोरोना संक्रमण के अलावा अन्य बीमारियों में भी लोगों को राहत मिल रही है। किसी के जोड़ों का दर्द खत्म हुआ है, तो किसी की वर्षों पुरानी शारीरिक समस्या दूर होने के दावे किए जा रहे। एक ओर जहां कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर लोगों में कई तरह की भ्रांतियां फैली है। वहीं इन सभी के बीच सेंधवा से 10 किमी दूर गांव के एक शिक्षक ने वैक्सीनेशन से अपनी 10 साल पुरानी बीमारी में राहत मिलने का दावा किया है।
कई चिकित्सकों का लिया इलाज, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ
कुंजरी निवासी शिक्षक काशीराम कन्नौजे ने बताया कि उन्हें हाथ और पैर में जलन की बीमारी है। उन्होंने दावा किया कि पिछले 10 साल तक कई डॉक्टर और अस्पतालों में इलाज करने के बाद स्वस्थ नहीं हुआ, लेकिन वैक्सीन लगाने के पांचवें दिन से ही उसे आराम मिल गया और अब बीमारी पूरी तरह छूमंतर हो गई। कन्नौजे माध्यमिक स्कूल भंवरगढ़ में शिक्षक के तौर पर पदस्थ है। उनका कहना है कि उन्हें पिछले 10 सालों से पांव के तलवों में जलन की शिकायत थी। इइसके चलते वह काफी परेशान थे, तलवों में जलन इतनी होती थी कि उसके कारण वह बैठ भी नहीं पाते थे और सो भी नहीं पाते थे। स्कूल में भी बैठने के लिए उन्हें कुर्सी के ऊपर पांव रखकर बैठना पड़ता था। अक्सर तलवों में जलन के चलते तलवे जमीन पर रगड़ कर और तेल मालिश से आराम मिलता था। पिछले 10 सालों में कई डॉक्टरों और अस्पतालों मैं इलाज करने के बाद भी उन्हें कोई फायदा नहीं हुअ।
अप्रैल में वैक्सीन लगवाने के बाद मिली राहत
शिक्षक ने बताया कि 11 अप्रैल को उन्होंने जामनिया उप स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना वैक्सीनेशन का पहला डोस लगवाया था। जिसके 5 दिन बाद उन्हें महसूस होने लगा कि उन्होंने तलवों की जलन कम होने लगी। धीरे-धीरे उन्हें तलवों की जलन से पूरी तरह आराम मिल गया। उनका दावा है कि वैक्सीनेशन की वजह से ये संभव हुआ और अब उन्हें कोई भी तकलीफ नहीं। वह दिन में भी आराम से सो सकते हैं और आराम से कुर्सी के नीचे पैर रखकर बैठ जाते है। वह कहते है कि ये वैक्सीनेशन की वजह से ही हुआ। क्योंकि उन्होंने अपना पुराना इलाज पूरी तरह बंद कर रखा था।

Show More
vishal yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned