रोने के आवाज सुन जमीन से खोदा तो 10 दिन का नवजात जिंदा निकला

रोने के आवाज सुन जमीन से खोदा तो 10 दिन का नवजात जिंदा निकला

नवजात को जिंदा मिट्टी में गाड़ दिया गया। लेकिन कहते हैं न, जाको राखे सांइयां मार सके न कोय। बच्चे को गांव के एक दंपति ने सुरक्षित मिट्टी से बाहर निकाल लिया।

बड़वानी. बड़वानी के ओझर क्षेत्र के ग्राम घुसगांव के चिबानिया फल्या में नवजात को जिंदा मिट्टी में गाड़ दिया गया। लेकिन कहते हैं न, जाको राखे सांइयां मार सके न कोय। बच्चे को गांव के एक दंपति ने सुरक्षित मिट्टी से बाहर निकाल लिया। आननफानन नवजात को जिला अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसका स्वास्थ्य परीक्षण किया। इसके बाद उसे आईसीयू में एडमिट कर लिया गया। डॉक्टर्स के मुताबिक नवजात की हालत नाजुक है।


नवजात को नया जीवन देने वाले घुसगांव के चिबानिया फल्या में रहने वाले शेरू पिता नरसिंग और उनकी पत्नी सुनीता ने बताया कि सुबह गांव में बच्चे श्मसान घाट के पास खेल रहे थे। बच्चों ने किसी बच्चे की रोने की आवाज सुनी। बच्चों ने ये बात हमें बताई। श्मसान घाट पहुंचे तो नवजात मिट्टी ने दबा था। लगभग एक फीट गड्ढे में नवजात को गाड़ा गया था, लेकिन सिर के पास थोड़ा सुराख था। मिट्टी के ऊपर पत्थर भी रखा हुआ था। तुरंत बच्चे को गड्ढे से निकालकर घर ले गए। नवजात के शरीर पर मिट्टी लगा हुआ था। मुंह और आंख में भी मिट्टी चली गई थी। बच्चा मिट्टी से लथपथ था। उसके शरीर पर लगे मिट्टी को साफ किया। फिर मुंह और आंख की मिट्टी भी साफ की। इसकी जानकारी गांव वालों को भी दी। ग्रामीणों ने जानकारी पुलिस को दी। फिर शेरू और उनकी पत्नी सुनीता बच्चे को लेकर जिला अस्पताल पहुंची। 



यहां पर डॉ. रूप सिंग भादले ने बच्चे का स्वास्थ्य परीक्षण किया। डॉ. भादले ने बताया नवजात मेल चाइल्ड है। उसकी हालत गंभीर है। फ्लू एवं कोल्ड भी है। डॉ. भादले ने बताया कि बच्चा एक दिन पूर्व ही जमीन में दबाया गया हो सकता है। लगभग 10 दिन का नवजात है। इलाज शुरू की दी गई है। 

 
Couple found the baby in badwani
बहुत संतोष मिला
नवजात को नय जीवन देने वाले दंपति शेरू एवं सुनीता ने बताया कि उनकी एक पुत्री है। उनका कोई लड़का नहीं है। बच्चे को बचाकर उन्हें बहुत संतोष है। ऐसा मौका मिला तो वे नवजात को पालने के लिए भी आगे आएंगे। शेरू व उनकी पत्नी भी बच्चे के साथ अस्पताल में ठहरे हैं। अस्पताल लाने से पूर्व बच्चे को उन्होंने साफ कर कपड़े भी पहनाए।

 
Doctor Examin the baby buried alive in barwani
गांव में सनसनी
घुंसगांव में अमानवीय ढंग से जिंदा नवजात को जमीन में दफनाने की घटना के बाद से सनसनी है। हर कोई इस घटना को लेकर चर्चा करता रहा। लोग कयास ही लगाते रहे कि इस तरह का कार्य किसने किया होगा। गांव के श्मसान घाट के पास एवं बच्चे को बचाने वाले दंपति के घर भीड़ बनी रही। मामले को लेकर पुलिस भी जांच पड़ताल में जुट गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned