5 हजार से अधिक राशि के काट रहे कनेक्शन, शासकीय विभागों पर विद्युत वितरण कंपनी मौन

आमजन पर सख्ती, शासकीय विभागों पर मेहरबानी, पांच हजार से अधिक राशि के कनेक्शन काटने की कार्रवाई, शासकीय विभागों पर विविकं मौन

By: vishal yadav

Published: 29 Jul 2021, 04:07 PM IST

बड़वानी. बिल वसूली को लेकर विद्युत वितरण कंपनी का दोहरी कार्यप्रणाली देखने को मिल रही है। कोरोना काल की मार झेल चुके लोगों से बकाया वसूली के लिए कंपनी ने सख्ती बरतते हुए कनेक्शन काटने की कार्रवाई शुरू कर दी हैं, वहीं दूसरी ओर बकायादार शासकीय विभागों पर मेहरबानी बरती जा रही है। कुल मिलाकर विविकं की कनेक्शन काटने की कार्रवाई को लेकर लोगों में नाराजगी बढऩे लगी है।
कोरोना काल के बाद से बिजली को लेकर कंपनी और उपभोक्ताओं के बीच अब भी रार बनी हुई है। मई माह में आए एवरेज बिल के बाद जून माह में लोगों को भारी भरकम बिल मिले थे। इससे कई लोगों ने अब तक बिल जमा नहीं करवाए है। इसको देखते हुए अब बिजली कंपनी ने सख्ती बरतते हुए पांच हजार से अधिक राशि के बकायादारों के कनेक्शन काटने की कार्रवाई तेज कर दी है। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण के चलते अप्रैल-मई माह में लॉकडाउन बरकरार रहा। इस दौरान बिजली कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी संक्रमित होने से बिल वितरण और मीटर रीडिंग का काम नहीं हो पाया था।
एवरेज बिल से बिगड़ी स्थिति
मई माह में कंपनी ने एवरेज बिल जारी किए। अधिक बिल मिलने पर लोगों ने शिकायतें भी की और लॉक डाउन के बाद निराकरण का आश्वासन मिला। वहीं जून माह में जब रीडिंग अनुसार बिल जारी हुए तो उपभोक्ताओं के होश उड़ गए। बड़ी संख्या में लोगों के बिल हजारों रुपए के प्राप्त हुए। इनका निराकरण करवाने के लिए कंपनी को शिविर का आयोजन करना पड़ा। साथ ही प्रतिदिन सैकड़ों उपभोक्ता गुहार लेकर पहुंचे। यह स्थिति अब भी बनी हुई है। जुलाई का अंतिम सप्ताह आने तक अब भी बिजली कंपनी शहरी क्षेत्र में डिमांड के विरुद्ध 92 लाख रुपए की राशि बकाया रह गई है। इससे बड़े कनेक्शनधारियों पर कैंची चलाने की शुरुआत की दी है।
92 लाख रुपए की वसूली अब भी बाकी
प्राप्त जानकारी के अनुसार शहरी क्षेत्र में बिजली कंपनी के 22 हजार से अधिक कनेक्शन है। इसमें घरेलु, कमर्शियल, औद्योगिक, अस्थाई और शासकीय कनेक्शन शामिल है। कंपनी के सहयक यंत्री के अनुसार जून माह में कंपनी को शहरी क्षेत्र की 3 करोड़ 92 लाख रुपए वसूली की डिमांड मिली थी। इसके विरुद्ध 28 दिनों में तीन करोड़ वसूली हो चुकी है। शेष 92 लाख वसूलने के प्रयास जारी है। इसमें पांच हजार से अधिक बिलधारक चयनित किए हैं, जो 200 से से अधिक है। इनके कनेक्शन काटने के लिए 10 टीमें शहर में सक्रिय है। प्रति टीम को 17 से 18 लाख रुपए बकायादार कनेक्शनों की सूची सौंपी है, जो प्रतिदिन 30 से 40 कनेक्शन काट रही है। इससे वसूली में तेजी आई है। मंगलवार को ही एक दिन में 10 लाख रुपए वसूले है।
शासकीय विभागों पर भी बड़ा बकाया
जानकारी के अनुसार विद्युत वितरण कंपनी का जिला मुख्यालय स्थित शासकीय विभागों पर भी बड़ा बकाया है। इसमें से कुछ विभाग रुटीन में राशि जमा करवाते हैं, तो कुछ विभागों में बिल अनुपात राशि जमा नहीं हो पा रही है। ऐसे में आम व खास उपभोक्ताओं के साथ विभागों में भी अंधेरा करने की तैयारी की जा रही है।
वसूली के प्रयास जारी हैं
विविकं के सहायक यंत्री स्वाप्निल डावर ने बताया कि शहर में 22 हजार से अधिक कनेक्शन है। लॉक डाउन के बाद से कंपनी में वसूली कामकाज पिछड़ा है। अब इसे दुरुस्त किया जा रहा है। जिनके अधिक बिल आए थे, ऐसे अधिकांश उपभोक्ताओं का निराकरण करवा चुके हैं और लोगों ने बिल जमा भी किए है। अब भी पांच हजार रुप से अधिक राशि के ऐसे 200 उपभोक्ता हैं, जो बिल जमा नहीं करवा पा रहे है। उनसे वसूली के प्रयास जारी है। साथ ही कनेक्शन काटने की कार्रवाई शुरु की है। प्रतिदिन 40 से 50 कनेक्शन काट रहे है।

Show More
vishal yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned