SP कार्यालय में पदस्थ फिंगर एक्सपर्ट ने लगाई फांसी, उपचार के दौरान जीवनलीला हुई समाप्त

चूनाभट्टी डीआरपी लाइन में रहते थे फिंगर एक्सपर्ट, एक दिन की घटना, देर रात हुई मौत, विवेचना में जुटी पुलिस, पीएम रुम पहुंचे एसपी-थाना प्रभारी

By: vishal yadav

Published: 12 Sep 2021, 08:07 PM IST

बड़वानी. जिले के एसपी कार्यालय में पदस्थ फिंगर एक्सपर्ट फंदे पर झूल गए और उपचार के दौरान उनकी जीवनलीला समाप्त हो गई। इस घटना से पुलिस विभाग में शोक छा गया। रविवार दोपहर पोस्टमार्टम के समय एसपी दीपक शुक्ला, एएसपी आरडी प्रजापति व टीआइ राजेश यादव पहुंचे और शोक व्यक्त कर श्रद्धांजलि अर्पित की। साथ ही परिजनों को सांत्वना व्यक्त की।
प्राप्त जानकारी के अनुसार फिंगर एक्सपर्ट एसआई वीरेंद्रसिंह बरडे वर्ष 2016 में इंदौर से स्थानांतरित होकर बड़वानी एसपी कार्यालय में पदस्थ हुए थे। तब से लेकर अब तक हत्या, लूट, चोरी सहित अन्य कई मामलों की विवेचना में उनकी फिंगर जांच की भी अहम भूमिका रही है। बरडे शहर के चूनाभट्टी भीलखेड़ा रोड स्थित नई पुलिस लाइन में सरकारी आवास मे रहते थे। बरडे की मौत की सूचना के बाद जिलेभर के पुलिस विभाग में शोक की लहर छा गई। एसपी ने प्रथम दृष्टया फांसी लगाने की पुष्टि की हैं, लेकिन फिलहाल कोई कारण सामने नहीं आ पाया है। पुलिस मामले की विवेचना में जुटी है। रविवार दोपहर 12 बजे पोस्टमार्टम कक्ष पर पुलिस अधीक्षक दीपककुमार शुक्ला, एएसपी आरडी प्रजापति व टीआइ राजेश यादव पहुंचे थे।
स्वयं को कमरे में बंद कर लिया था
टीआइ ने बताया कि शनिवार सुबह मृतक की पत्नी ने सूचना दी थी कि उनके पति एसआई बरडे ने स्वयं को कमरे में बंद कर लिया है। इसके बाद पुलिस ने पहुंचकर दरवाजा तोड़कर कक्ष में देखा तो वो फंदे पर झूल रहे थे। उन्हें तत्काल शहर के राजघाट रोड स्थित सांई अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। देर शाम तक उनका उपचार यहीं चला। इसके बाद भी हालात में सुधार नहीं होने की स्थिति में रात्रि में उन्हें इंदौर रैफर किया गया। इसके बाद रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। परिजन रात्रि में ही उन्हें शहर लाए और शव पोस्टमार्टम कक्ष में रखवाया।
हरणगांव के निवासी थे एसआई
मृतक एसआई बरडे के बड़े भाई राजेशसिंह बरडे ने बताया कि पुलिस विभाग में पदस्थ फिंगर एक्सपर्ट उनके छोटे भाई थे, जो शहर में ही पुलिस की नई लाइन में रहते थे। शनिवार सुबह 11 बजे उन्हें फोन पर फांसी लगाने की सूचना मिली। जबकि यह घटना उससे पहले की है। इसके बाद निजी अस्पताल में उपचार कराया। रात्रि में इंदौर ले जाते समय रास्ते में भाई ने दम तोड़ दिया। पोस्टमार्टम के लिए बड़वानी में ही लाए है। मृतक एसआई बरडे जिले के मंडवाड़ा क्षेत्र के ग्राम हरणगांव के निवासी है। वे बीते पांच वर्षांे से जिले में फिंगर एक्सपर्ट की सेवाएं दे रहे थे। शहर के सरकारी आवास में वे अपनी पत्नी के साथ ही रहते थे। उनकी पत्नी फारेस्ट विभाग में रेंजर के रुप में पदस्थ है।
हमनें युवा एसआई खो दिया
एसपी दीपक शुक्ला ने बताया कि हमारे होनहार और युवा एसआई अब नहीं रहे। वो फिंगर शाखा में पदस्थ थे। एक दिन पूर्व पुलिस को कमरे में बंद होने की सूचना मिली थी। इसके बाद कमरे में वे फंदे पर मिले। इसके बाद तत्काल निजी अस्पताल में उपचार शुरु करवाया। रात्रि में इंदौर ले जाते समय उनकी मौत हो गई। प्रथम दृष्टया फंदे पर झृूलने का मामला सामने आया है। क्या कारण रहा हैं, यह जांच में हैं।
मामले की जांच कर रहे हैं
कोतवाली पुलिस मामले की जांच कर रही है। शव का पीएम करवाकर परिजनों के सुपुर्द किया है। उनकी अंतिम संस्कार हरणगांव-मंडवाड़ा में होगा। सभी परिजन वहां गए हैं। आगामी दिनों में उनके बयान दर्ज किए जाएंगे। पीएम की शार्ट पीएम रिपोर्ट आने पर और स्थिति साफ होगी। पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है।
-राजेश यादव, थाना प्रभारी

Show More
vishal yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned