जलसंकट... सिकुड़ रहे है नर्मदा के किनारे, पेयजल संकट ने दी दस्तक

दो साल में सबसे स्तर पर नर्मदा, नाली खोदकर इंटेक तक पानी लाने के प्रयास भी हो रहे फेल, सिकुड़ रहे है नर्मदा के किनारे, पेयजल संकट ने दी दस्तक

By: vishal yadav

Published: 03 Jul 2021, 10:44 AM IST

बड़वानी. शहर के समीप नर्मदा नदी का जलस्तर कई दिनों से लगातार कम हो रहा है। शुक्रवार को यहां जलस्तर बीते दो वर्षांे में सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया। इस दौरान जलस्तर 113.700 मीटर रहा। जलस्तर घटने से नर्मदा के दोनों ओर के किनारे सिकुडऩे लगे है और चट्टानें नजर आने लगी है। उधर शहर में जल संकट की दस्तक नजर आने लगी है। बीते दो दिन से शहर के कुछ क्षेत्रों में जल वितरण की व्यवस्था प्रभावित हो रही है।
बता दें कि सरदार सरोवर बांध परियोजना के चलते राजघाट में नर्मदा का जलस्तर बीते वर्ष सितंबर माह में रिकार्ड 138.60 मीटर तक पहुंचा था। वहीं बीते दो माह से नर्मदा के जलस्तर में तेजी से कमी आ रही है। इससे नर्मदा खतरे के निशान से कम हुई थी। वहीं अब राजघाट में प्राचीन तट खुल गया है। उधर, छोटी कसरावद तट पर बने नपा के इंटेकवेल से नर्मदा जल दूर हो गया है। ऐसे में नगर पालिका द्वारा जेसीबी से नाली बनाकर पानी इंटेक तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। शुक्रवार सुबह से जेसीबी से लंबी नाली बनाई गई। हालांकि दिनभर में घटते जलस्तर से नपा का ये प्रयास भी फेल होता नजर आ रहा है। शनिवार को और जेसीबी के माध्यम खुदाई करने का प्रयास किया जाएगा। जलस्तर घटने से राजघाट व चिखल्दा-धार की ओर के नर्मदा किनारे सिकुडऩे से चट्टाने नजर आने लगी है।
शहर में हैं 10 हजार नल कनेक्शन
नगर पालिका के जल वितरण प्रभारी प्रदीप गंगराड़े ने बताया कि इंटेकवेल पर 116 मीटर के करीब जलस्तर होने पर व्यवस्था सुचारु रहती है। शुक्रवार को 114 मीटर से नीचे जलस्तर होने से व्यवस्था प्रभावित होने लगी है। इससे शहर की जल वितरण व्यवस्था अनियमित होने लगी है। सभी वार्डांे में पर्याप्त वितरण के लिए नपा प्रयास कर रही है। शहर में करीब 10 हजार नल कनेक्शन है। प्रतिदिन नगर पालिका 24 वार्डांे में 90 लाख लीटर पानी वितरित करती है। वर्तमान में नर्मदा का जलस्तर घटने से प्रतिदिन की व्यवस्था प्रभावित होने लगी है।
जेसीबी से खुदाई कर पानी पहुंचाने का प्रयास किया
नगर पालिका अध्यक्ष लक्ष्मण चौहान का कहना है कि जलस्तर घटने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार सुबह नपा की जेसीबी नदी किनारे उतार नाली बनाकर पानी इंटेक तक पहुंचाने का प्रयास किया। फिर भी जलस्तर और कम हो गया है। शनिवार को और प्रयास किया जाएगा। साथ ही इंटेक वेल की एक मोटर भी खराब हो गई है। इससे प्रतिदिन जल वितरण का शेड्यूल प्रभावित हो सकता है। इस संबंध में कलेक्टर के माध्यम से उच्च स्तर पर अवगत कराया है।

Show More
vishal yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned