scriptUntil we listen to us, we will not share ration-water slogans | जब तक हमारी बात ना मानी, नहीं बटेगा राशन-पानी के नारे लगाए | Patrika News

जब तक हमारी बात ना मानी, नहीं बटेगा राशन-पानी के नारे लगाए

समितियों पर ताले लगा कर सभी कर्मचारी शाखा स्तर पर कलमबंद हड़ताल पर बैठे

बड़वानी

Published: March 29, 2022 01:01:41 am

राजपुर. जब तक हमारी बात ना मानी, नहीं बटेगा राशन पानी..., हम अपना अधिकार मांगते नहीं किसी से भीख मांगते जैसे नारों के साथ सोमवार को सहकारी समितियों के कर्मचारियों की हड़ताल प्रमुख मांगो को लेकर लगातार छठवें दिन जारी रही। इसमें समितियों पर ताले लगा कर सभी कर्मचारी शाखा स्तर पर कलमबंद हड़ताल पर बैठे।
जब तक हमारी बात ना मानी, नहीं बटेगा राशन-पानी के नारे लगाए
जब तक हमारी बात ना मानी, नहीं बटेगा राशन-पानी के नारे लगाए
सहकारिता समिति कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष मीठाराम यादव ने बताया कि महासंघ के आह्वान पर 23 मार्च से हड़ताल पर बैठे है। इसमें शेड्यूल अनुसार 23 और 24 मार्च को भोपाल में धरना प्रदर्शन था। 25 तारीख को जिला लेवल पर धरना दिया। सोमवार को छठवें दिन जिले की सभी शाखाओं में कर्मचारी पूरे जिले की समितियां बंद कर अपनी-अपनी शाखा स्तर पर धरने पर बैठे। जिसमें मुख्य मांग हमारी शासकीय कर्मचारी अनुसार समान वेतन एवं जो सुविधाएं शासकीय कर्मचारी को मिलती है, वह हमें भी मिले यह माग कई वर्षों से चली आ रही है। पिछले वर्ष भी हम लोगों ने फरवरी में आंदोलन किया था। इसमें हमारी गतवर्ष भी 4 सूत्रीय मांगे थे। जिसमें हमारी मुख्य मांग शासकीय कर्मचारी अनुसार समान वेतनमान एवं सुविधाओं की थी। मांगे पूरी नहीं होने पर आंदोलन यथावत जारी रहेगा। 1 अप्रैल को भोपाल में सीएम हाउस का घेराव करेंगे। इस दौरान दिलीप ठक्कर, रमेश चौहान, लक्ष्मण चौहान, सीताराम मोगरे, भगवान यादव एवं सभी कर्मचारी मौजूद थे।
ओझर में भी धरने पर बैठे कर्मचारी
ओझर. मप्र सहकारिता समिति कर्मचारी महासंघ भोपाल के आह्वान पर अनिश्चितकालीन हड़ताल ओझर नागलवाड़ी में भी हुई। इसमें कर्मचारी दीपक यादव, शंकरलाल सोलंकी, हुकुमचंद यादव, मुकेश नागर, हर्षद सोनी, मनोज यादव, रमेश रावत, तरुण जायसवाल, गोकुल चांदोरे सहित सभी कर्मचारी हड़ताल बैठे हंै। मंत्री की घोषणानुसार शासकीय कर्मचारियों की तहत वेतनमान एवं अन्य सुविधाएं दें।
रैली के रूप में पहुंचे एसडीएम कार्यालय
सेंधवा. सहकारी समितियों के अधिकारी-कर्मचारी सोमवार से कलमबंद हड़ताल पर बैठ गए। शासकीय कर्मचारियों के सामान नियमितीकरण और सामान वेतनमान की मांग को लेकर कलमबंद हड़ताल शुरू हो गई है। अनिश्चित कालीन हड़ताल के दौरान एसडीएम को ज्ञापन देकर विभिन्न मांगों से अवगत कराया। समिति के कर्मचारी महासंघ के आह्वान पर कर्मचारी 23 मार्च से अनिश्चित कालीन कलम बंद हड़ताल पर बैठे है। कर्मचारियों ने कहा कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती तब तक वह हड़ताल जारी रखेंगे।
सोमवार दोपहर 12.30 बजे सहकारी संस्थाओं से जुड़े सभी कर्मचारी पहले जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की सेंधवा शाखा पर एकत्र हुए और यहां से रैली के रूप में एसडीएम कार्यालय पहुंचे। यहां पर कर्मचारियों ने एसडीएम तपस्या परिहार को ज्ञापन देते हुए अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर जाने की सूचना दी।
सामान वेतन और नियमितीकरण है मुख्य मांग
समिति कर्मचारियों ने बताया कि सरकारी अधिकारियों के समान वेतन और नियमितीकरण का लाभ मिलना चाहिए। हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों की मांग है कि उन्हें शासन सरकारी कर्मचारियों की तरह वेतनमान देकर सरकारी कर्मचारी का दर्जा दें, जिससे उन्हें भी सरकारी कर्मचारियों की तरह सभी शासकीय सुविधा मिल सके। मांगों को लेकर पूर्व में भी सहकारी समितियों के कर्मचारी हड़ताल कर चुके है, लेकिन अभी तक शासन ने मांगों की पूर्ति के लिए कोई गभीर कदम नहीं उठाया। इसलिए फिर से हड़ताल की जा रही है। ज्ञापन देने के दौरान सेंधवा ग्रामीण क्षेत्र के सहकारिता समितियों धनोरा, झिरिजामली, खुरमबाद, चाचरिया पाटी, सेंधवा, वरला, धवली, चाटली,जामली, मेहदगांव बाबदड़, मालवन, दुगानी, बलवाड़ी, जोगवाड़ा, गवाड़ी आदि के सेल्समैन सहित समिति के प्रबंधक और कर्मचारी शामिल रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

वाराणसी कोर्ट में सर्वे रिपोर्ट पर फैसला सुरक्षित, एडवोकेट कमिशनर ने 2 दिन का मांगा समय, SC में ज्ञानवापी का फैसला सुरक्षितAssam Flood: असम में बारिश और बाढ़ से भीषण तबाही, स्टेशन डूबे, पानी के बहाव में ट्रेन तक पलटीWest Bengal Coal Scam: SC ने ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक और रुजिरा की गिरफ्तारी पर रोक लगाई, दिल्ली की बजाय कोलकाता में पूछताछ करेगी EDराजस्थान BJP में सियासी रार तेज: वसुंधरा ने शायरी से साधा निशाना... जिन पत्थरों को हमने दी थीं धड़कनें, वो आज हम पर बरस...कांग्रेस के बाद अब 20 मई को जयपुर में भाजपा की राष्ट्रीय बैठक, ये रहा पूरा कार्यक्रमTRAI के सिल्वर जुबली प्रोग्राम में PM मोदी ने लॉन्च किया 5G टेस्ट बेड, बोले- इससे आएंगे सकारात्मक बदलावपूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीक्रिकेट इतिहास के 5 सबसे लंबे गेंदबाज, नंबर 1 की लंबाई है The Great Khali के बराबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.