scriptWheat purchased on support price | विदेश निर्यात से इस बार बाजार में गेहूं का भाव अधिक, निजी व्यापारियों को बेच रहे अपना अनाज | Patrika News

विदेश निर्यात से इस बार बाजार में गेहूं का भाव अधिक, निजी व्यापारियों को बेच रहे अपना अनाज

समर्थन मूल्य से किसानों ने मोड़ा मुंह, अधिकारी किसान को बुलाकर शुरु करवाया खरीदी का श्रीगणेश, 18 किसानों ने अब तक बुक किए स्लाट

बड़वानी

Published: April 07, 2022 11:05:11 am

बड़वानी. विदेश निर्यात के चलते इस बार बाजार में गेहूं का भाव अधिक है। इससे शासन के समर्थन मूल्य की ओर किसानों का पूरी तरह मुंह मोड़ लिया है। इसके चलते किसान अपना अनाज बाजार में निजी व्यापारियों को बेच रहे है। 28 मार्च से अब तक छह में से पांच केंद्रों पर कोई किसान एक दाना गेहूं लेकर नहीं पहुंचा। वहीं बुधवार को अधिकारियों ने स्लाट बुक करने वाले किसान को बुलाकर खरीदी का श्रीगणेश करवाया। किसानों का मोहभंग का सीधा कारण बाजार में गेहूं का समर्थन से कहीं अधिक भाव मिलना है।
बता दें कि इस बार समर्थन मूल्य के लिए पिछले वर्ष की तुलना आधे किसानों ने ही पंजीयन करवाया। शासन ने ने 2015 रुपए समर्थन मूल्य घोषित किया है। जबकि किसानों के अनुसार एमएसपी अनुसार 2600 रुपए क्ंिवटल की मांग थी। वहीं वर्तमान में बाजार में गेहूं का दाम 2300 से 2400 रुपए क्ंिवटल तक मिल रहा है। ऐसे में कोई भी किसान समर्थन मूल्य की ओर रुख नहीं कर रहा है। इससे इस बार जिले के गोडाउन खाली रहेंगे और उचित मूल्य की दुकानों पर वितरण के लिए भी शासन को बाहर से गेहूं क्रय करने की नौबत आएगी।
एक किसान ने उपज बेची, लेकिन पर्ची नहीं बन सकी
प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बार गेहूं विक्रय के लिए जिले के 4540 किसानों ने पंजीयन करवाया है। इसके मान से गेहूं खरीदी का लक्ष्य 1.20 लाख क्ंिवटल निर्धारित किया है। हालांकि वर्तमान में इतना लक्ष्य हासिल करना असंभव नजर आ रहा है। वहीं जिले में केंद्रों की संख्या कम होकर मात्र छह रह गई है। 23 मार्च से शुरु हुई स्लाट बुकिंग प्रक्रिया में अब तक 18 किसानों ने स्लाट बुक किए है। बुधवार को अंजड़ केंद्र पर एक किसान को बुलाकर गेहूं तुलाई करवाकर खरीदी का श्रीगणेश करवाया, लेकिन तकनीकी कारणों से उसकी बिल पर्ची नहीं बन सकी।
640 क्ंिवटल चना खरीदी हुई
वहीं जिले में समर्थन मूल्य पर चना खरीदी जारी है। इसके लिए 1485 किसानों ने पंजीयन करवाया है। 15 हजार क्ंिवटल लक्ष्य के विरुद्ध अब तक 36 किसानों से 640 क्ंिवटल चना की खरीदी हुई है। इसमें से 522 क्ंिवटल चना का वेयर हाउस में परिवहन भी हो चुका है। वहीं कुल 613 किसानों को मैसेज भेजे जा चुके है।
वेयर हाउस के प्रबंधक लोकेंद्रसिंह झाला ने बताया कि अंजड़ केंद्र पर एकमात्र किसान से गेहूं तुलाई कर खरीदी का श्रीगणेश किया। चूंकी तकनीकी कारण से उसकी बिल पर्ची नहीं बन सकी। शेष पांच केंद्रों पर आंकड़ा शून्य है। गेहंू बिक्री के लिए 18 किसानों ने स्लाट बुक किए हैं, जिनसे आगामी दिनों में खरीदी होगी।
इधर आग से एक हेक्टेयर में गेहूं फसल खाक
गर्मी बढऩे से खेतों में आग लगने की घटनाएं बढऩे लगी है। बुधवार दोपहर ग्राम पालिया में एक खेत में आग लगने से एक हेक्टेयर में गेहूं फसल खाक हो गई। इससे किसान को हजारों रुपए की नुकसानी हुई है। सूचना पर फायर वाहन ने पहुंचकर आग पर काबू पाया। वहीं सूचना पर पटवारी पहुंचे और मौका पंचनामा बनाया। किसान राधेश्याम मेहताब ने बताया कि एक एकड़ में आग लगने से गेहूं की पकी फसल खाक हो गई। आग लगने का कारण अज्ञात बताया गया।
सबसे गर्म दिन गर्मी का प्रकोप तेज रहा
गर्मी के लिए विख्यात निमाड़-अंचल में अप्रैल माह के पहले सप्ताह में ही तेज धूप और गर्मी जनजीवन के पसीने छुड़ाने लगी है। बुधवार का दिन सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। इस दौरान अधिकतम तापमान 43 डिग्री से अधिक रहा। तापमान बढऩे से दिन में आग बरसाती तेज धूप, गर्म हवाओं के थपेड़ों से जनजीवन बुरी तरह झुलसता नजर आया। सुबह 11 बजे से शाम चार बजे तक प्रमुख बाजार, चौक-चौराहों पर आवाजाही नाममात्र की नजर आई। जबकि गली-मोहल्लों और कॉलोनियों में गर्मी का लॉकडाउन नजर आया। बता दें कि इस बार जिले में औसत से कम बारिश हुई है। इससे मार्च के अंतिम सप्ताह से ही गर्मी का पारा तेज होने लगा है। इससे मई-जून में पडऩे वाली भीषण का गर्मी का प्रकोप अप्रैल के शुरुआती दिनों में ही महसूस होने लगा है। बुधवार को सीजन के सबसे गर्म दिन गर्मी का प्रकोप तेज रहा। तेज धूप व गर्म हवाओं ने लोगों को खूब हालाकान किया। इस दौरान अधिकतम तापमान 43.6 और न्यूनतम तापमान 20.4 डिग्री सेंट्रिग्रेट रहा।

Wheat purchased on support price
Wheat purchased on support price

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शव31 साल बाद जेल से छूटेगा राजीव गांधी का हत्यारा, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशगुजरातः चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल ने दिया इस्तीफा, BJP में शामिल होने की चर्चाकान्स फिल्म फेस्टिवल में राजस्थान का जलवा, सीएम गहलोत ने जताई खुशीऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का बड़ा फैसला, ज्ञानवापी सर्वे मामले को टेक ओवर करेगा बोर्डआतंकियों के निशाने पर RSS मुख्यालय, रेकी करने वाले जैश ए मोहम्मद के कश्मीरी आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.