VIDEO: गौशाला में गोवंशों के मरने का सिलसिला जारी, साधु-संतों ने दी चेतावनी

Ashutosh Pathak | Updated: 13 Sep 2019, 01:16:50 PM (IST) Bagpat, Bagpat, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • अस्थाई गौशाला में गोवंशों के मरने का सिलसिला जारी
  • सौ गोवंशों को रखने की जगह में 180 गोवंशों को छोड़ गया
  • इलाके के लोगों ने किया विरोध, प्रदर्शन की दी चेतावनी

बागपत। यूपी में योगी सरकार के आने के बाद गाय को लेकर काफी सजगता दिखाई जा रही है। प्रत्येक जिलें में गौवंशों और छुट्टा गाय़ों के लिए गौशाला बनवाए गए। लेकिन उन गौशाला में रह रहे गोवंशों की स्थिति बिगड़ती जा रही है। बागपत में एक गौशाला में दो गोवंशों की मौत हो गई। जबकि दर्जनों गोवंश अभी भी बीमार है। इसे लेकर अब साधु-संतों ने हुंकार भर दी है।

दरअसल खेतों मे किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा रहे गोवंशों से परेशान होकर ग्रामीणों ने महेश मन्दिर के समीप एक अस्थायी गौशाला बनवायी थी। जिसमे ग्रामीणों ने तादाद से ज्यादा गोवंशों को छोड़ दिया। इसके बाद वहां एक अस्थायी गौशाला का निर्माण भी प्रशासन द्वारा कराया गया। महेश मन्दिर के महंत एकादंश गिरि व ग्रामीणों ने बताया की गोशाला में सौ गोवंशों को रखने की व्यवस्था थी। लेकिन उसमे 180 गोवंशों को छोड़ दिया गया। जिनके मरने का सिलसिला जारी है।

उन्होंने बताया की रात्रि भी दो गोवंशं मर गये इसके अलावा हर सप्ताह गोवशं मरते जा रहे है। जिससे लेकर न प्रशासन सचेत है और न ही डाक्टर। आरोप है आज तक एक भी बीमार गोवंश को पशुओं के डॉक्टर ने नहीं बचाया, डॉक्टर खाना पूर्ति कर चले जाते हैं।

उन्होंने बताया की अब तक दर्जनों गोवंशों की मौत हो चुकी है। जिस कारण मन्दिर के आस पास बदबू रहती है। वहीं गोवंशों के साथ हो रहे अत्याचार देखे नहीं जाते। महेश मन्दिर के महंत एकादश गिरि ने कहा की यहां से गौशाला को हटवाकर सरकारी गौशाला में गोवंशों को भेजा जाये। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा अगर ऐसा न किया गया तो वह साधु सन्तों के साथ डीएम कार्यलय पर धरना प्रदर्शन करेगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned