16 वर्ष पूर्व सुधीर हत्याकांड में कोर्ट ने 4 आरोपियों को सुनाई ऐसी सजा, सुनते ही हत्यारोंपियों की आंखों से निकल आए आंसू

 

Highlights

  • 2004 में दिनदहाड़े की गई थी सुधीर की हत्या
  • गोलियों से भूनकर हत्या करने वालों के खिलाफ भाई ने दर्ज कराई थी एफआईआर
  • कोर्ट चारों हत्यारोपियों को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

बागपत। जिले के कस्बा टीकरी निवासी सुधीर राठी हत्याकांड़ में कोर्ट ने आरोप सिंद्ध हो जाने के बाद चार आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। कोर्ट ने आरोपियों पर 25 -25 हजार रुपये का अर्थदंड़ भी लगाया है। जुर्माना अदा न करने पर अतिरिक्त सजा काटनी होगी। सुनवाई के दौरान एक अभियुक्त की मौत हो चुकी है।

नोएडा में काली गाड़ी से चलेंगे पुलिस कमिश्नर, DM का पदनाम भी किया जा सकता है चेंज

अधिवक्ता फौजदारी चश्मवीर सिंह व अनुज ढाका ने बताया कि थाना दोघट क्षेत्र के कस्बा टीकरी में 5 मई 2004 को सुधीर राठी व उसका भाई नरेंद्र प्रताप सुबह करीब आठ बजे अपने खेत से घर लौट रहे थे। उसी समय रास्ते में गिरवर के मकान से निकलकर पांच लोगों ने सुधीर राठी की गोलियां बरसाकर हत्या कर दी थी । इस दौरान उन्हें बचाने आए ग्रामीणें का भी ऐसा ही अंजाम भुगतने की चेतावनी दी थी। इसके बाद लोग अपने घरों में घुस गए थे।

झगड़े के बाद पड़ोसी युवकों ने किशाेरी पर फेंका तेजाब, वारदात के बाद इलाके में मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस- देखें वीडियाे

मृतक के भाई ने दर्ज कराया था मुकदमा

इस संबंध में मृतक के भाई नरेंद्र जयवीर पुत्र दीपचंद, अविनाशी पुत्र बाबूराम, राजीव पुत्र सोमपाल, ऋषिपाल पुत्र बाबू व भीम सिंह उर्फ लाला पुत्र रामचंद्र को नामजद करते हुए थाना दोघट में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस मामले की सुनवाई अपर सत्र न्यायधीश एफटीसी द्वितीय रूपाली सक्सेना की कोर्ट में हुई। अभियोजन पक्ष की तरफ से सात गवाह पेश किए गये। न्याधीश ने गवाहों के बयान व साक्ष्यों के आधार पर अविनशी, राजीव, ऋषिपाल व भीम सिंह को हत्या का दोषी करार देते हुए आजीवन करावास व 25-25 हजार रुपये अर्थदण्ड की सजा सुनाई है। एक अभियुक्त जयवीर की सुनवाई के दौरान मृत्यु हो गई थी।

Nitin Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned