Mukhyamantri Samuhik Vivah Yojana: विदा होने से पहले दुल्‍हन ने दूल्‍हे को दिया यह जरूरी सामान तो हैरान रह गए सभी

Mukhyamantri Samuhik Vivah Yojana: विदा होने से पहले दुल्‍हन ने दूल्‍हे को दिया यह जरूरी सामान तो हैरान रह गए सभी

sharad asthana | Updated: 02 Jul 2019, 03:06:03 PM (IST) Bagpat, Bagpat, Uttar Pradesh, India

  • बागपत के दिल्ली रोड स्थित आशीर्वाद गार्डन में हुआ मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह का आयोजन
  • जनपद के 119 जोड़े शादी के बंधन में बंधे सामूहिक विवाह में
  • मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत 126 जोड़ों ने कराया था अपना पंजीकरण

बागपत। नगर के दिल्ली रोड स्थित आशीर्वाद गार्डन में रविवार को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया। इसमें एक तरफ जहां पंडितों ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ जोड़ों के फेरे कराए, वहीं काजियों ने नए जोड़ों से पूछा कि क्या उनको निकाह कबूल है। सामूहिक विवाह में जनपद के 119 जोड़े शादी के बंधन में बंध गए। इसमें 51 हिंदू तो 68 मुस्लिम जोड़े शामिल थे। इस दौरान मुस्लिम युवती ने अपने दूल्‍हे को विदा होने से पहले ऐसा जरूरी सामान भेंट किया, जिसे देखकर वहां मौजूद लोगों ने उसकी काफी सराहना की।

यह भी पढ़ें: सामूहिक विवाह योजना: तारीखें घोषित, जरूरतमंद जल्द कराएं आवेदन

अलग-अलग पंडाल बनाए गए

रविवार को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम में दोनों हिंदू और मुस्लिमों के लिए अलग-अलग मंडप बनाए गए थे। डीएम व सीडीओ ने पहुंचकर सभी को आशीर्वाद दिया। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल भी तैनात किया गया था। इस बीच अधिकारी घूमकर वहां की स्थिति का जायजा लेते रहे। रविवार को सुबह से ही शादी कराने के लिए काफी भीड़ पहुंचनी शुरू हो गई थी। शादी के लिए युवक और युवतियां बाइकों व टेंपो समेत निजी वाहनों से मंडप में पहुंच रहे थे।

यह भी पढ़ें: Video: यूपी के इस जिले में मुस्लिम और हिंदू जोड़ों ने एक ही मंडप में जीवनभर साथ निभाने की ली शपथ

लाभार्थियों को मिला यह सामान

कार्यक्रम की व्यवस्था मुख्य विकास अधिकारी पीसी जायसवाल संभाल रहे थे। कुछ जोड़ों के देरी से आने के कारण कार्यक्रम काफी देरी से शुरू हुआ। हालांकि, जोड़ों की संख्‍या कम रह गई। कार्यक्रम करीब 10 बजे शुरू हुआ। डीएम पवन कुमार ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत 126 जोड़ों ने अपना पंजीकरण कराया था, लेकिन सात जोड़े वहां नहीं आ सके। योजना के अंतर्गत लाभार्थियों के खाते में 35 हजार रुपए की धनराशि सीधे भेजी गई है। साथ ही 10 हजार रुपये का सामान दिया गया, जिसमें बर्तन, टंकी, बाल्टी, परात, प्लेट, गिलास आदि सामान था।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह इस दूल्हे को पड़ा महंगा, बेखौफ होकर कर दी थी ये मांग, फिर जो हुआ

दुल्‍हन ने दिया हेलमेट

कार्यक्रम में दोघट की नजमा का निकाह मुजफ्फरनगर के खतौली निवासी नदीम के साथ हुआ। नजमा को ले जाने के लिए नादिम बाइक पर पहुंचा था। विाई से पहले दुल्‍हन ने देखा कि नदीम बिना हेलमेट के वहां पहुंचा था। इसके बाद उसने सबसे पहले हेलमेट मंगवाया और फिर उसके साथ विदा हुई। नजमा का कहना था कि हेलमेट लगाने से खुद की ही सुरक्षा होती है। इसके लिए सबको जागरूक होना चाहिए। यह देखकर वहां मौजूद लोगों ने उसकी सराहना की। इस मौके पर डीएम ने कहा कि लड़कियों के विवाह के लिए योग्य वर का चुनाव किया गया है, जिससे भविष्य में कोई परेशानी का सामना ना करना पड़े। भविष्य में भी ऐसे आयोजन कराए जायेंगे।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned