10वीं और दो 12वीं के छात्र लूट के आरोप में हुए गिरफ्तार, लूट की वजह जानकर रो देंगे आप

10वीं और दो 12वीं के छात्र लूट के आरोप में हुए गिरफ्तार, लूट की वजह जानकर रो देंगे आप

Iftekhar Ahmed | Publish: Apr, 17 2019 08:19:53 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 08:19:54 PM (IST) Bagpat, Bagpat, Uttar Pradesh, India

  • लूट के आरोप में 3 युवकों को किया गया गिरफ्तार
  • लूटेरों में एक 10वीं और दो 12वीं का है छात्र
  • स्कूल फीस जमा करने के लिए लूट करने की कही बात

बागपत. करीब बीस दिन पूर्व बड़ौत नवीन मंडी में सब्जी व्यापारी से हुई लूट का पुलिस ने खुलासा करने का दावा किया है। इसके साथ ही पुलिस ने लूट की घटना में शामिल तीन आरोपियों को भी गिरफ्तार कर उनके कब्जे से लूट की 39 सौ रुपये की राशि बरामद की है। पुलिस ने उनके कब्जे से एक तमंचा और दो छुरी बरामद की है। लूट के आरोपियों में दो छात्र भी शामिल हैं। एक आरोपी ने बताया कि वह अपने स्कूल की फीस जमा करने के लिए लूट में शामिल हुआ था।

यह भी पढ़ें: सड़क पर चलती कार बन गई आग का गोला, इसके बाद जो हुआ...


अपने कार्यालय में बुधवार को पत्रकारों से वार्ता करते हुए एएसपी रणविजय सिंह ने बताया कि गत 28 मार्च को सुबह करीब 5 बजे मंड़ी जा रहे सब्जी व्यापारी प्रवीन जैन से तीन बदमाशों ने रुपयों से भरा थैला लूट लिया था। थैले में एक लाख रुपये बताये गए थे। व्यापारी ने इस संबंध में कोतवाली बड़ौत में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस लूट कांड़ के खुलासे के लिए क्राईम ब्रांच को लगाया था।

यह भी पढ़ें- 48 फीसदी मत लेकर जिस सीट से भाजपा ने दर्ज की थी जीत, गठबंधन ने वहां का भी बिगड़ दिया खेल, बढ़ी टेंशन

एएसपी ने बताया कि पुलिस को लूटेरों के मंड़ी के पास ही एक ट्यूबवैल पर होने की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर बुधवार को पुलिस ने बिनौली रोड स्थित गुड़ मंडी के निकट ट्यूबवैल पर छापा मारकर लूट के तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से पुलिस को एक तमंचा, दो छुरी व लूट के 39 सौ रुपये भी बरामद हुए हैं। पूछताछ के दौरान उन्होनें व्यापारी से लूट करना स्वीकार किया और बताया कि लूट के बाकी पैसे खर्च हो गए हैं। उनके नाम अनुज पुत्र विजय सिंह निवासी शेखपुरा तथा कपिल पुत्र वीरपाल और शिवम उर्फ शुभम पुत्र राजेंद्र निवासी गण मवाना बताये गए हैं। शुभम कक्षा 10 तथा कपिल कक्षा 12 के छात्र हैं। शिवम ने बताया कि स्कूल फीस जमा करने के लिए वह लूट में शामिल हुआ था, जबकि कपिल व अनुज को उधार के पैसे चुकानें थे।

यह भी पढ़ें: गाजियाबाद का यह डॉक्टर बिना चीर-फाड़ के फ्री में करते हैं 10 से 12 लाख में होने वाला ऑपरेशन

दोबारा भी गए थे लूट करने
एएसपी ने बताया कि तीनों अपराधियों के अपराधिक इतिहास का पता लगाने का प्रयाय किया जा रहा है। उन्होंने 28 मार्च को लूट करने के बाद यहां फिर से किसी बड़ी घटना का अंजाम देने की फिराक में थे। इसीलिए वह 5 व 6 अप्रैल को फिर मंड़ी के पास पहुंचे थे, लेकिन घटना को अंजाम देने में कामयाब नहीं हो सके थे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned