बड़े भाई की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सके युवक ने भी तोड़ा दम, दो भाइयों की मौत से मचा हाहाकार

Highlights

- बागपत जिले के अमीनगर सराय कस्बे की दिल दहला देने वाली यह घटना

- परिवार में एक साथ दो भाइयों की मौत से क्षेत्र में गम का माहौल

- लॉकडाउन के कारण बेबसी ऐसी कि रिश्तेदार भी अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके

By: lokesh verma

Published: 18 Apr 2020, 01:01 PM IST

बागपत. लॉकडाउन के दौरान एक परिवार पर दुखों का ऐसा पहाड़ टूटा है कि इस गम रिश्तेदार और दूर रहने वाले परिजनों से भी शामिल नहीं हो सके हैं। बता दें कि कस्बा अमीनगर सराय में रहने वाले एक परिवार में गुरुवार को एक 48 वर्षीय व्यक्ति की दिल का दौरा पढ़ने से मौत हो गई। इस गम को लोग भूले भी नहीं थे कि भाई की मौत के सदमे में उसके छोटे भाई की भी मौत हो गई। परिवार में एक साथ दो भाइयों की मौत से क्षेत्र में गम का माहौल है। वहीं लॉकडाउन के कारण बेबसी ऐसी थी कि रिश्तेदार भी अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके हैं।

यह भी पढ़ें- लॉकडाउन के दौरान भीषण हादसे में UP Police के हेड कांस्टेबल की दर्दनाक मौत, सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे अधिकारी

दरअसल, दिल दहला देने वाली यह घटना बागपत जिले के अमीनगर सराय कस्बे की है। जहां रहने वाले रामजस हलवाई के छह बेटे और एक बेटी है। बताया जा रहा है कि रामजस का दूसरे नंबर का बेटा महेश गुरुवार की सुबह शौचालय के लिए गया था। इसी दौरान उसे सीने में तेज दर्द हुआ और वह वहीं जमीन पर गिर गया। परिजन महेश को लेकर तुरंत बालैनी स्थित एक निजी हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजन शव को घर लेकर पहुंचे और गुरुवार शाम को ही उसका अंतिम संंस्कार कर दिया गया, लेकिन लॉकडाउन के कारण दाह संस्कार में रिश्तेदार भी शामिल नहीं हो सके।

बता दें कि परिवार बड़े बेटे की मौत का गम भुला भी नहीं पाया था कि शुक्रवार सुबह उसके छोटे भाई 46 वर्षीय मुकेश ने भी भाई की मौत के सदमे में दम तोड़ दिया। पिता रामजस ने बताया कि मुकेश को पहले ब्रेन अटैक आ चुका था, जिसके चलते उसे लकवा मार गया था। वह अपने बड़े भाई की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सका और शुक्रवार सुबह उसने भी दम तोड़ दिया। दो दिन में परिवार में दो बेटों की मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। वहीं कस्बे में मातम पसरा हुआ है। उधर, लॉकडाउन के कारण रिश्तेदार भी इस गम में शामिल नहीं हो पाए हैं।

यह भी पढ़ें- लॉकडाउन के चलते मायके नहीं जा पाने पर विवाहिता ने किया सुसाइड

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned