फैक्ट्री के गेट पर शव रखकर मजदूरों ने 6 घण्टे किया प्रदर्शन

Teekam Saini

Publish: Mar, 17 2019 06:59:16 PM (IST)

Bagru, Jaipur, Rajasthan, India

सिंवार मोड़ (जयपुर). सिरसी रोड़ के कनकपुरा रेल्वे स्टेशन के पास स्थित तरूण इंटरनेशनल लिमिटेड के मुख्य गेट पर शनिवार को मृत मजदूर के शव को रखकर मुआवजे की मांग को लेकर सैकड़ों श्रमिक विरोध कर धरने पर बैठ गये। सूचना पर करणी विहार थानाधिकारी धर्मराज चौधरी मय पुलिस जाप्ते के घटनास्थल पर पहुंचकर मजदूरों से समझाइस की लेकिन मजदूर मुआवजे व अपनी मांग पर अड़े रहे। मामला बढता देखकर पुलिस ने इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी सूचना पर वैशाली नगर सहायक पुलिस आयुक्त रायसिंह बेनीवाल मौके पर पहुंचकर धरने पर बैठे श्रमिकों को समझा बुझाकर मामले को शांत करवाया। दूरभाष पर फैक्ट्री मालिक मृतक के परिजनों को मुआवजे के आश्वासन दिया तब जाकर परिजनों ने शव को उठाया।
करणी विहार थानाधिकारी धर्मराज चौधरी ने बताया कि मध्यप्रदेश के नीमच हाल पांच्यावला निवासी मृतक मजदूर गोविन्द नागदा उम्र, 39 वर्ष, पुत्र विरेन्द्र नागदा की मौत हो गयी थी मृतक 13 वर्ष से कम्पनी कार्यरत बताया जा रहा है जो करीब चार माह से बीमारी चल था बीमारे के चलते कम्पनी जाने में असमर्थ था। मौत होने पर जबकि परिजनों ने मृतक का वेतन, बोनस, पीएफ, गे्रच्यटी आदि मांगा तो कम्पनी देने से इनकार कर दिया। गुस्साऐं परिजनों व मजदूरों ने मृतक के शव को कम्पनी के गेट पर रखकर धरने पर बैठ गये थे। मुआवजे की मांग के आश्वासन के बाद श्रमिकों ने शव को धरने से उठाया।
फैक्ट्री का यह था मामला
राष्ट्रीय अनिल स्टील मजूदर संघ के सीटू के अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण मीणा, महामंत्री संतोष गुर्जर, योगेश चौधरी ने बताया कि कनकपुरा पर में वर्षो से अनिल स्टील के नाम फैक्ट्री संचालित थी जो कर्ज में डूबने के बाद बैंक ने नीलाम कर दिया। नीलामी में 2018 में तरूण इंटरनेशनल लिमिटेड ने इस फैक्ट्री को खरीद लिया। अनिल स्टील में कार्यरत सभी मजदूर तरूण फैक्ट्री में फरवरी 2018 से काम करने लगे। तरूण इण्डस्ट्रीज ने मजदूरों का पुरानी कम्पनी का वेतन, पीएफ, बोनस, ग्रेच्वटी आदि नही दी गयी। फरवरी 2018 से 161 मजदूरों का फैक्ट्री संचालक बलदेव गुप्ता, जनरल मैनेजर रजनीश चनाना मजदूरों को लगातार एक साल मजदूरों का शोषण कर उनके के वेतन से पीएफ, ईएसआई काटकर डकार रहा है मजदूरों ने जब संबंधित विभाग से अपने पीएफ, ईएसआई की जानकारी जुटाई तो मजदूरों कोई रिकॉर्ड नही मिला। मजदूरों को वेतन की पे-स्लिप नही देखकर आधा-अधूरा वेतन देते है, साथ श्रमिकों को पिछले वर्ष का तीन का वेतन रोक रखा है। मांगने पर कम्पनी बंद करने व कम्पनी से निकालनी की मजदूरों की धमकी देता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned