साम्प्रदायिक सौहार्द्र : बुर्के वाली मां के आंचल में कोरोना से जंग लड़ेगा 6 वर्षीय प्रियांक

- कोरोना पॉजिटिव बच्चे के बिलख रहे मां-बाप, बुर्के वाली बोली बहन... मैं रखूंगी ध्यान

By: Kashyap Avasthi

Published: 24 May 2020, 11:46 PM IST

जयपुर. कोरोना महामारी के दौरान संकट की घड़ी में रेनवाल कस्बे में साम्प्रदायिक सौहार्द्र की मिसाल देखकर लोग उस समय भावुक हो गए जब छह वर्षीय मासूम प्रियांक (बदला नाम) के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद उसे मेडिकल टीम एंबुलेंस में बैठा रही थी और उसके मां-बाप उसे अकेले ले जाने पर बिलख रहे थे। तभी अंदर बैठी कोरोना संक्रमित बुर्के वाली महिला ने बच्चे को संभालते हुए कहा... बहन मत रो। अस्पताल में अब मैं इसका ख्याल रखूंगी।


जानकारी के मुताबिक किशनगढ़ रेनवाल कस्बे के मोहल्ला कुरेशियान में रविवार को एक महिला पॉजिटिव मिली वहीं दूसरे मोहल्ले में एक छह वर्षीय बालक संक्रमित मिला। जब एंबुलेंस महिला को लेकर बच्चे को लेने वार्ड नंबर-२ में उसके घर पहुंची तो परिजन बिलख पड़े। बच्चे के परिजनों को रोते देख बुर्के वाली महिला ने ढांढस बंधाया और कहा कि मैं भी पॉजिटिव हूं। यह भी मेरे बेटा जैसा है। अस्पताल में अब मैं इसका ध्यान रखूंगी। आप चिंता मत करो। यह देख जहां बच्चे के मां-बाप को तसल्ली हुई वहीं घरों के गेट और छतों से यह वाकया देख रहे लोग भी भावुक हो गए। इसके बाद एंबुलेंस दोनों रोगियों को लेकर जयपुर के लिए रवाना हो गई। हालांकि बालक के दादा भी कोरोना पॉजिटिव हैं और जयपुर में भर्ती हैं।


दोनों संक्रमित महाराष्ट्र से रेनवाल कस्बे में लौटे हैं। दोनों पॉजिटिव होम क्वारंटीन में थे और सैंपल के बाद रिपोर्ट में संक्रमित पाए गए हैं। इससे पहले गुरुवार को रेनवाल व लालासर गांव में एक-एक पॉजिटिव मिल चुका है। महिला सात दिन पहले परिवार के साथ मुंबई से आई है। चार दिन में चार रोगी सामने आने के बाद लोग दहशत हैं। पता लगते ही बाजार बंद हो गया। दोनों पॉजिटिव को जयपुर आरयूएचएस मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया है। जबकि महिला के परिजनों सहित 18 को होम क्वारंटीन किया गया है।

Kashyap Avasthi Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned