कोरोना कर्मवीर : शादी के बाद 15 दिन भी साथ नहीं बिताए और अब लड़ रहे कोरोना के विरुद्ध जंग

कोरोना से जंग में तहसील के नवविवाहित दंपती एक-दूसरे से हजारों किलोमीटर दूर रहते हुए सेवाएं देकर सभी के लिए प्रेरणास्रोत बने हुए हैं। तहसील के ग्राम पंचायत सिरोहीकलां के देवपुरा निवासी मेवाराम जाट का बेटा शैतानसिंह जाट कोविड-19 में गांव से हजारों किलोमीटर दूर ओडिशा के भुवनेश्वर में स्थित ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में नर्सिंग ऑफिसर के पद पर रहते हुए सेवाएं दे रहा है।

By: Ashish Sikarwar

Published: 19 Apr 2020, 11:16 PM IST

दूदू. कोरोना से जंग में तहसील के नवविवाहित दंपती एक-दूसरे से हजारों किलोमीटर दूर रहते हुए सेवाएं देकर सभी के लिए प्रेरणास्रोत बने हुए हैं। तहसील के ग्राम पंचायत सिरोहीकलां के देवपुरा निवासी मेवाराम जाट का बेटा शैतानसिंह जाट कोविड-19 में गांव से हजारों किलोमीटर दूर ओडिशा के भुवनेश्वर में स्थित ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में नर्सिंग ऑफिसर के पद पर रहते हुए सेवाएं दे रहा है। दूसरी तरफ उसकी पत्नी अनीता चौधरी लेह-लद्दाख में कोविड-19 में आईटीबीपी में सब इंस्पेक्टर के पद पर देश सेवा में लगी है। दोनों की शादी को एक साल भी पूरा नहीं हुआ है। इस दौरान दोनों दो सप्ताह भी साथ नहीं रहे। फिर भी मां-बाप के साथ ही खुद एक-दूसरे से इतने दूर रहकर केवल देश सेवा के लिए तल्लीन होकर कोविड-19 में फर्ज की खातिर लोगों की सेवा में ध्यान दे रहे हैं।

नर्सिंग ऑफिसर शैतानसिंह ने बताया मूल गांव दूदू तहसील में देवपुरा है, लेकिन बूढ़े मां-बाप 15 साल से जयपुर जिले के कालवाड़ के पास मुंडोती गंाव में बंटाई पर खेती का काम कर जीवन यापन कर रहे हैं। परिवार बीपीएल श्रेणी में है। साथ ही उसने उच्च शिक्षा भी स्कॉलरशिप लेकर पूरी की है। शादी १६ अप्रैल २०१९ को हुई थी। शादी के बाद उसकी पत्नी के साथ मात्र 15 दिन ही रह पाया। अभी उन्हें मिले लगभग 8 माह हो गए हैं। मार्च में गांव आने का था लेकिन कोविड-१९ महामारी व लॉकडाउन के चलते दोनों ही नहीं आ सके। बकौल शैतान ड्यूटी के दौरान पीपीई किट पहनने के बाद खाना-पीना कुछ भी नहीं कर सकते।

एक बार यह कि ट पहनकर 6 से 10 घंटे नियमित ड्यूटी करनी होती है। माता-पिता से रोजाना फोन पर बात होती है लेकिन पत्नी से समय व नेटवर्क मिलने पर वीडियोकॉल से बात होती है। उसने दूदू तहसील के लोगों को संदेश देते हुए अपील की है कि लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें और घरों में ही रहकर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए कोरोना को भगाने साथ दें।

Ashish Sikarwar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned