लग्जरी कारों से चोरियां करता था बावरिया गिरोह, चार गिरफ्तार, 85 वारदातें कबूली

- जयपुर ग्रामीण पुलिस की बड़ी कार्रवाई

जयपुर. जयपुर ग्रामीण पुलिस एक बड़ी कार्रवाई करते हुए अंतरराज्यीय बावरिया गिरोह का पर्दाफाश करते चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। साथ ही उनसे विभिन्न जिलों से की गई 85 चोरी की वारदातों को अंजाम देना कबूल किया है। जानकारी देते हुए जयपुर ग्रामीण अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि गैंग के सदस्य सरगना के साथ मिलकर महंगी लग्जरी कारों में जयपुर ग्रामीण, जयपुर शहर, नागौर, अजमेर, भीलवाड़ा, सीकर तथा आस-पास के अन्य जिलों में जाते और किसी को शक नहीं हो इसके लिए महिला सदस्य को साथ रखते थे। जिससे पुलिस को नाकाबंदी के दौरान पूछताछ करते शक नहीं हो। गैंग के सदस्य दिन में घटना से पूर्व उस जगह की पूरी रैकी करते उसके बाद रात्रि में नकबजनी व चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। जब कभी नकबजनी नहीं हो पाती तो रास्ते से बकरियों को अपनी गाडिय़ों में डालकर ले आते थे उसके बाद उन्हें बेच देते थे। पुलिस ने बताया कि 10 व 11 फरवरी की रात फुलेरा थाना क्षेत्र के रीको एरिया स्थित दाल मील में गैंग ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। जहां से 17 गेहूं के कट्टे गाड़ी में डाल ले गए थे।


बावरिया गैंग के सदस्य बेहद शातिर हैं। जब कभी भी पुलिस की गिरफ्त में आते तो अपना नाम व पता सहीं नहीं बताते। जिससे गैंग के अन्य सदस्यों तक पुलिस नहीं पूछ सके। पूछताछ में गैंग के सरगना देवाराम बावरिया ने बताया कि उसके तथा उसकी पत्नी सहित गैंग के सदस्यों के खिलाफ विभिन्न थानों में न्यायालय के दस वारंट जारी है।


पुलिस ने देवाराम बावरिया (सरगना) उर्फ गोपाल पुत्र दानाराम बावरिया, जीतू पुत्र देवाराम बावरिया, नंदा पुत्र भागीरथ बावरिया, सीताराम पुत्र देवाराम बावरियां निवासी गांव मौरड़ी पुलिस थाना नरैना हाल निवासी गोविंदपुरा धाम सांभर रोड फुलेरा को गिरफ्तार किया है। गैंग को पकडऩे में फुलेरा थाना प्रभारी सुरेन्द्र सिंह, कालाडेरा थाना प्रभारी धर्म सिंह, हैड कास्टेबल साइबर सैल रतनदीप, रामस्वरूप तथा फुलेरा थाने के कांस्टेबल हरिनारायण की अहम भूमिका रही।

Kashyap Avasthi Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned