आठवीं की छात्रा से गैंगरेप, 3 गिरफ्तार

मामला आठ दिन बाद हुआ उजागर

By: Ramakant dadhich

Published: 19 Mar 2020, 11:56 PM IST

जयपुर/मूंडरू. निकटवर्ती एक गांव में नाबालिग बालिका के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। मामला धुलंडी के दिन का है। 13 वर्षीय बालिका गांव के विद्यालय में आठवीं कक्षा में पढ़ती है। मामला आठ दिन बाद तब उजागर हुआ जब सामाजिक संगठनों के प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों के पास पहुंचा। उन्होंने अपने स्तर पर पुलिस के सेवानिवृत्त अधिकारियों से संपर्क किया। उन्होंने घटना की जानकारी श्रीमाधोपुर थाना इंचार्ज को दी। पुलिस ने पीडि़त परिवार को विश्वास में लेकर बुधवार देर रात आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की। गुरुवार को डिप्टी बलराम मीणा ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पीडि़त परिवार से घटना की जानकारी ली तथा नाबालिग व पीडि़त परिवार के बयान दर्ज कर मेडिकल बोर्ड से मेडिकल कराया। घटना धुलंडी की रात करीब दस बजे की है। पीडि़ता के पिता ने थाने में रिपोर्ट देकर मामला दर्ज कराया है कि उस रात बालिका मकान से बाहर शौच करने गई थी। एक कार आकर रुकी और उसमें बैठे चार-पांच बदमाशों ने बालिका को जबरन कार में डाल लिया और कंचनपुर की ओर ले गए। कार में राजेश नाम के लड़के ने उसके साथ बलात्कार किया। बाद में उसे घर के पास उतारकर चले गए।


बदनामी के चलते दबाया मामला
घटना के दो-तीन दिन तक गुमसुम रहने पर परिजनों ने उससे पूछताछ की तो मामला खुला। आरोपियों ने पीडि़ता को किसी को बताने पर परिजनों को जान से मारने की धमकी दी। परिजनों ने लोक लज्जा व बदनामी के डर से मामले को आठ दिन तक दबाए रखा। बाद में घटना की जानकारी गांव के लोगों ने सामाजिक संगठन के पदाधिकारियों तक पहुंचाई। उन्होंने न्याय दिलाने की बात कही तब पीडि़त परिवार पुलिस थाने पहुंचा।


पुलिस ने तीन जनों को रातोंरात दबोचा
पुलिस ने देर रात मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर सर्च अभियान चलाया। उन्होंने मनोहरपुर के पास रतनपुरा निवासी विनोद चौधरी, चंदवाजी कंवरपुरा निवासी सोहनलाल तथा कंवरपुरा निवासी रणजीत सिंह को गिरफ्तार किया है। घटना का मुख्य आरोपी राजेश जाट बताया जा रहा है। जो कंवरपुरा का मूल निवासी है तथा बीसवीं जाट रेजीमेंट जयपुर में कार्यरत है। जो वर्तमान में जोधपुर में ट्रेनिंग कर रहा है। पुलिस ने आरोपी की तलाश जोधपुर ट्रेनिंग सेंटर पर भी तलाश की, लेकिन सरकार द्वारा कोरोना के चलते सभी ट्रेनिंग रद्द किए जाने से आरोपी ट्रेनिंग सेंटर पर नहीं मिला। जिसकी शिकायत पुलिस ने आर्मी पुलिस को दी है। लेकिन आरोपी फरार है तथा उसका मोबाइल भी स्विच है।

Ramakant dadhich Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned