पतंगबाजी में बीता दिन... गूंजा वो काटा...

पतंगबाजी में बीता दिन... गूंजा वो काटा...

Kashyap Avasthi | Publish: Jan, 14 2019 11:38:04 PM (IST) Bagru, Jaipur, Rajasthan, India

बाजारों में सन्नाटा, छतें हुई गुलजार

चौमूं. बाजारों में सन्नाटा, छतें हुई गुलजार। सुबह से देर शाम तक पतंगबाजी पर परवान पर। 'वो काटा...ये मारा का दिनभर गूंजता रहा शोर। डीजे पर फिल्मी गानों का उठाया लुत्फ। युवक-युवती ही नहीं, हर उम्र के लोग पतंगबाजी का आनंद लेते नजर आए। यह नजारा था चौमूं शहर का। चौमूं और आस-पास के ग्रामीण अंचलों में सोमवार को मकर संक्रांति के त्योहार पर उत्साह, उमंग का माहौल बना रहा। खास बात रही कि मौसम साफ-खुशनुमा होने एवं हवा के चलते रहने से आसमान इन्द्रधनुषीय रंगों में नजर आया।
मकर संक्रांति पर चौमूं शहर समेत ग्रामीण अंचल में पतंगों के शौकीनों की साल दर साल संख्या में इजाफा हुआ है। यही कारण रहा कि इस बार पहले की तुलना में शहर के विभिन्न बाजारों में जगह-जगह सैकड़ों की संख्या में पतंगों की छोटी-बड़ी दुकानें खुलीं। रविवार रात तक खुली अधिकतर पतंगों की दुकानों पर पतंग व मांझा खरीदने वालों की भीड़भाड़ नजर आई। सोमवार सुबह होते ही शहर के युवा व बच्चे छतों पर चढ़ गए। सुबह 7 बजे से ही पतंगबाजी का दौर शुरू हो गया। दिनभर 'वो काटा...ये माराÓ की गूंज सुनाई दी। खास बात ये रही कि चौमूं में पतंगबाजी का आनंद लेने गांवों से युवा आए।
कागजों में रहा प्रतिबंध
आसमान में उडऩे वाले परिंदों की जान बचाने के लिए जिला कलक्टर के आदेश पर सुबह 6 से 8 एवं शाम को 5 से 7 बजे तक पतंग उड़ाने पर प्रतिबंध लगाया गया था। नगरपालिका ने इसकी पालना के लिए एक कार्मिक को जिम्मेदारी भी थी, लेकिन इसकी पालना नहीं हुई। दोनों ही पारियों में पतंगबाजों ने जमकर पतंगों का लुत्फ उठाया।
150 घायल परिंदों का उपचार
पतंगों की डोर व मांझे के कारण मकर संक्रांति पर बड़ी संख्या में पक्षी घायल हुए होंगे, लेकिन नगरपालिका के सामने नि:स्वार्थ पक्षी परिण्डा फ्री सेवा एवं उपचार केन्द्र की ओर से लगाए गए नि:शुल्क उपचार शिविर में शहर समेत आस-पास क्षेत्र से लोग करीब 150 घायल पक्षियों को लेकर पहुंचे, जिनका उपचार किया। केन्द्र संचालक घनश्याम कुमावत ने बताया कि इस बार एक भी पक्षी नहीं मरा। इसका कारण है कि लोगों के जागरूक होने से घायल पक्षियों को कॅर्टन में बंद करके लाया गया, जिससे उनकी जान बचाई जा सकी। शिविर में राधामोहन अग्रवाल व राकेश पंडित ने भी सेवा की।
पतंग उड़ाने के दौरान छत से गिरा
सामोद कस्बे में सोमवार को मकर संक्रांति पर मकान की छत से गिरकर एक जना घायल हो गया। परिजन उसे घायलावस्था में राजकीय चिकित्सालय चौमूं लाए, जहां से उसे जयपुर रैफर कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि सामोद के रैगर मोहल्ले में गौरीशंकर रैगर घर की छत पर बच्चों के साथ पतंग उड़ा रहा था। इसी दौरान पैर फिसल जाने से वह छत से गिर गया।
मांझे से चार जने जख्मी
चौमूं. दुपहिया वाहन चालकों की सावधानी के बावजूद सोमवार को मकर संक्रांति पर मांझे के कारण चार जने जख्मी हो गए, जिनका राजकीय चिकित्सालय में उपचार किया गया। जानकारी के अनुसार हाड़ौता निवासी अशोक प्रजापत मोटरसाइकिल पर सवार होकर जयपुर से चौमूं आ रहा था कि रामपुरा के पास पतंग के मांझे के कारण उसकी अंगुलियां कट गई, जिसे हाड़ौता के ही सुनील जांगिड़ ने चौमूं चिकित्सालय पहुंचाया। इसके बाद सुनील रवाना हो गया। थोड़ी देर बाद ही चौमूं में मोटरसाइकिल पर जाने के दौरान खुद सुनील भी मांझे के कारण जख्मी हो गया। उसका भी उपचार किया गया। इसी तरह पतंग के मांझे के कारण विजय एवं निरंजन शर्मा दोनों निवासी चौमूं घायल हो गए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned