Good News - विवि में अब छात्राओं को नहीं होना पड़ेगा परेशान

श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विवि में तीन करोड़ रुपए की लागत से नए छात्रावासों का निर्माण व जीर्णोद्धार का कार्य शुरू

By: Gourishankar Jodha

Published: 30 Jan 2021, 03:44 PM IST

जोबनेर। अब तक छात्रावास की कमी से परेशानी का सामना कर रही श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विवि की छात्राओं के लिए खुशखबरी है कि भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् नई दिल्ली द्वारा महाविद्यालय में छात्रावास के निर्माण व जीर्णोद्धार हेतु तीन करोड़ रुपए प्रदान किए गए है।
इस राशि से छात्राओं को रहने के लिए अत्याधुनिक महिला छात्रावास उपलब्ध हो सकेंगे। कुलपति डॉ. जेएस सन्धू ने निर्माण व जीर्णोद्धार कार्य का निरीक्षण किया। इस दौरान अधिष्ठाता डॉ. एके गुप्ता, ईओ लखबीर सिंह, चीफ हॉस्टल वार्डन डॉ. एनएल बैरवा समेत महिला छात्रावास के इन्चार्ज शंकरलाल शर्मा मौजूद थे।

छात्राओं को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा
इस दौरान कुलपति ने ईओ से छात्रावास निर्माण की प्रगति रिपोर्ट लेकर बताया कि पिछले काफी समय से छात्राओं के रहने के लिए पर्याप्त छात्रावास की कमी महसूस की जा रही थी। इसके लिए वे निरन्तर प्रयत्नशील थे। आइसीएआर से पैसा मिलने पर इस समस्या का समाधान भी हो जाएगा। अधिष्ठाता डॉ. एके गुप्ता ने बताया कि वर्तमान में विवि में तियालिस प्रतिशत छात्राएं है। अब छात्राओं को रहने के लिए परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

वर्तमान में है दो छात्रावास
महाविद्यालय में वर्तमान में दो छात्रावास है। एक नया छात्रावास बनाया गया था, जबकि स्टाफ क्वाटर का जीर्णोद्धार कर दूसरा छात्रावास बनाया गया था। एक छात्रावास में लगभग 98 जबकि दूसरे में लगभग 105 छात्राएं रहती है। जबकि महाविद्यालय में लगभग 300 छात्राएं है। ऐसे में छात्राओं को आवास संबंधी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

पेइंग गेस्ट या कमरा किराए पर लेकर रहती है छात्राएं
छात्रावास की कमी के चलते छात्राएं कस्बे या आसपास के क्षेत्र में कमरा किराए पर या पेइंग गेस्ट के रूप में रहती है। ऐसे में एक छात्रा को लगभग 2000 रुपए रहने में खर्च करने पड़ते हंै। अधिकांश छात्राए ग्रामीण किसान परिवारों की है, ऐसे में इतना पैसा खर्च करना उनके लिए परेशानीभरा है, लेकिन मजबूरी के चलते उन्हे रहना पड़ता है। छात्रावासों का निर्माण होने से इस परेशानी से उन्हे निजात मिल जाएगी।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned