अब गांवों में तैयार होंगे ध्यानचंद, सचिन जैसे खिलाड़ी

- स्कूलों के खेल मैदानों की बदलेगी तस्वीर
- योजना के तहत समतलीकरण, ट्रैक निर्माण, खाइयां व मैदानों का होगा निर्माण

By: Ramakant dadhich

Published: 27 Jul 2020, 11:35 PM IST

जयपुर. वर्षों से बदहाल पड़े सरकारी स्कूलों के खेल मैदानों की अब तस्वीर बदलने लगी है। इससे अब यहां भी मेजर ध्यानंचद और सचिन तेंतुदलकर जैसे खिलाड़ी तैयार होंगे। मनरेगा योजना के तहत सरकारी स्कूलों के खेल मैदानों का विकास किया जा रहा है। हालांकि जिले में कई जगह तो मनरेगा श्रमिकों ने खेल मैदानों का विकास कार्य शुरू भी कर दिया है। जबकि कई जगह कार्य प्रगति पर है।
योजना के तहत उबड़ खाबड़ पड़े खेल मैदानों का समतलीकरण करना, खो-खो, वॉलीबॉल, कबड्डी आदि के मैदान व दौड़ ट्रैक तैयार करना आदि कच्चे कार्य मनरेगा योजना के तहत किए जा रहे हैं। विकास कार्य होने से वर्षों से बदहाल पड़े खेल मैदानों की तस्वीर बदलेगी, वहीं,खिलाडिय़ों को भी खेलने की सुविधाएं मिलेगी। वर्तमान में अधिकांश जगह सरकारी स्कूलों के खेल मैदान बदहाल स्थिति में होने से बच्चों को खेलने की जगह तक उपलब्ध नहीं है। कई जगह खेल मैदानों की जमीन उबड़-खाबड़ है, तो कई जगह मैदानों में कंटीले झाड़ उगे होने से मैदान जंगल बने हुए हैं। जिले के शाहपुरा ब्लॉक में कई जगह मनरेगा श्रमिक खेल मैदानों की तस्वीर बदलने में लगे हुए हैं।

ब्लॉक में 58 मैदानों की सुधरेगी दशा
जिले की शाहपुरा पंचायत समिति क्षेत्र में पंचायत समिति प्रशासन ने मनरेगा की एक गांव चार काम योजना के तहत खेल मैदानों के कुल 58 कार्य स्वीकृत किए हैं। अब तक 38 कार्य पूर्ण हो चुके हैं। मनरेगा एईएन धीरेन्द्र गोयल ने बताया कि मनरेगा योजना के तहत इन खेल मैदानों का विकास होगा। इस योजना में सभी जगह कच्चे कार्य होंगे। जिसमें जहां जरूरत होगी, वहां मैदानों का समतलीकरण और ट्रैक निर्माण, खेल मैदानों का निर्माण आदि विकास के कार्य होंगे। कई जगह कार्य पूर्ण भी हो चुके और कुछ जगह प्रगति पर है। क्षेत्र में मनोहरपुर में दो जगह, घासीपुरा स्कूल, जगतपुरा स्कूल, धानोता, राडावास सहित कई ग्राम पंचायतों में सरकारी स्कूलों में खेल मैदानों का विकास कार्य प्रगति पर है।

शाहपुरा ब्लॉक की फैक्ट फाइल
- ग्राम पंचायतें- 33
- खेल मैदानों के विकास के लिए स्वीकृत कार्य 58
- कार्य पूर्ण हो चुके 38
- वर्तमान में चल रहे कार्य 20

ये कार्य होंगे
- खेल मैदानों का समतलीकरण
- जिन स्कूलों के चारदीवारी नहीं है, वहां खाइयां खोदने का कार्य
- ट्रैक निर्माण, कबड्डी, खो-खो व वालीबॉल मैदान
- पौधारोपण कार्य

Ramakant dadhich Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned